supreme court

दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण के चलते सर्व्वोच न्यायालय ने दिवाली पर पटाखे फोड़ने पर आंशिक प्रतिबंध लगाया था। दिल्ली एनसीआर में रात को 8 बजे से 10 बजे तक पटाखे फोड़ने की अनुमति दी गई थी। कोर्ट के इस फैसले पर दिल्ली पुलिस के डीसीपी देवेंद्र आर्य ने सवाल खड़े किए। हालांकि विवाद बढ़ने पर उन्होने माफी मांग ली।

डीसीपी ने अंग्रेजी में ट्वीट किया, जिसमे लिखा था – “दिवाली पर बम और पटाखे बजाने पे जेल हो सकती है. कभी सोचा नहीं कि ये दिन आएगा. क्या मैं अपने भारत देश में ही हूं? जय श्री राम. जय हिंद.” हालांकि, इस ट्वीट के वायरल होने के बाद उन्होंने इसे डिलीट कर दिया।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

दिल्ली पुलिस ने हालांकि शुक्रवार को सफाई देते हुए कहा कि उसका इस ट्वीट से कोई लेना-देना नहीं है क्योंकि अधिकारी ने इसे अपने निजी ट्विटर हैंडल से पोस्ट किया है। मामले ने तूल पकड़ा तो डीसीपी ने दूसरे ट्वीट में सफाई पेश करते हुए कहा, ‘‘ यह मेरे हिस्से से हुई लापरवाही थी। यह किसी तरह का विचार या बयान नहीं दिखलाता है। मैं इस लापरवाही के लिए माफी मांगता हूं।”

बता दें कि दिवाली पर कोर्ट के आदेश का उल्लंघन करने के 550 से अधिक मामले दर्ज किए गए और 300 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इसके अलावा विभिन्न इलाकों से 2776 किलो पटाखे भी जब्त किए।

दिल्ली पुलिस ने राजधानी के नॉर्थ वेस्ट इलाके से दिवाली की रात 140 किलो पटाखे सीज किए। इस मामले में पुलिस ने 57 केस दर्ज किए हैं। जबकि दिल्ली पुलिस ने द्वारका से 200 किलो पटाखे सीज किए और इस मामले में कुल 42 केस रजिस्टर किए गए हैं। वहीं, साउथ ईस्ट दिल्ली के इलाके से 278 किलो पटाखे जब्त किए गये। जबकि इस मामले में 23 केस दर्ज किए गए हैं और कुल 17 गिरफ्तारियां हुई हैं।

Loading...