dati maharaj 620x400

दिल्ली के छतरपुर स्थित शनि धाम मंदिर के संस्थापक दाती महाराज उर्फ मदनलाल के कुकर्मों के बारें मे खुलासा करते हुए पीड़ित युवती ने बताया कि 9 फरवरी 2016 को एक सेवादार मुझे दिल्ली के असोला स्थित आश्रम में दाती महाराज के पास ले गई थी।

पीड़िता ने बताया कि यहां उसे एक अंधेरे में गुफानुमा कमरे में ले जाया गया था। उस कमरे में दाती और उसके सहयोगियों ने दुष्कर्म किया। मार्च 2016 में राजस्थानी के पाली जिले के गुरुकुल आश्रम में भी दाती और उसके सहयोगियों ने हवस का शिकार बनाया। पीड़िता ने आरोप लगाया कि मेरे साथ कई दिन तक हैवानियत की गई।

पीड़ित युवती ने कहा है कि दुष्कर्म से पहले दाती महाराज ने उससे कहा था कि ‘मैं तुम्हारा प्रभु हूं, क्यों इधर-उधर भटकना? सब वासना खत्म कर दूंगा’। इसके बाद दाती और उसके सहयोगियों ने बारी-बारी से कई बार उसके साथ रेप किया।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

dati

युवती के वकील प्रदीप तिवारी ने बताया कि दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को साकेत कोर्ट में 164 के तहत बयान दर्ज करने के दौरान अपराध शाखा के अधिकारी भी मौजूद थे। इस दौरान लड़की ने कोर्ट में कहा है कि मैं दाती के खिलाफ शिकायत कर रही हूं, पता नहीं इसके बाद मैं जिंदा रहूंगी या नहीं, लेकिन मेरे जैसी दूसरी लड़कियों की जिंदगी बर्बाद होने से जरूर बच जाएगी।

आपको बता दें कि दुष्कर्म का आरोप लगने के बाद दाती महाराज फरार है। दाती महाराज पर भारतीय दंड संहिता की धारा 376, 377, 354 और 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है। जिसकी जांच दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच कर रही है।