बरेली: दरगाह आला हज़रत का संगठन जमात रज़ा-ए-मुस्तफ़ा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सलमान हसन खाँ (सलमान मिया) ने हिन्दुस्तान की राजधानी मे हुए हिंसा पर चिंता जताते हुए, सख्त नाराजगी जताई। उन्होने कहा दिल्ली हिंसा की एसआईटी से जांच कराई जाए। उन्होने कहा, भड़काऊ भाषण देने वाले नेताओ पर सख्त करवाई की जाए।

उन्होने सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडीयो जिसमे पुलिसकर्मी हिंसा में शामिल है। उन्होने कहा, ऐसे पुलिस वालों को बख्शा न जाए। पुलिस जनता की सुरक्षा के लिए होती है, दिल्ली पुलिस का जैसा रवैया रहा है। वह निंदनीय है। इसके साथ ही दिल्ली हिंसा मे मारे गए लोगो को मुआवजा और घर के एक शक्स को नौकरी दी जाये।

सलमान मिया ने मस्जिदों और दरगाहों को निशाना बनाये जाने पर भी सख्त आपत्ति जताते हुए कहा जो काम 1992 मे बाबरी मस्जिद की मिनार पर चढ़कर झण्डा लगाने का काम किया गया था, आज फिर उसी को दिल्ली मे मिनार पर दोहराया गया।

उन्होने सवाल उठाया कि देश की राजधानी मे हमारी मस्जिदे सुरक्षित नही है, जो की चिंता की बात है। साथ ही बरेली के इमामो से भी अपील की गई है। जुम्मे की नमाज़ बाद मस्जिदों मे दिल्ली समेत हिन्दुस्तान भर के लिए दुआ की जाए और वजीफ़े का भी एहतेमाम किया जाए। दिल्ली मे अमन ओ अमान बना रहें। हमारे हिन्दुस्तान को किसी की बुरी नज़र न लगें।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन