daati maharaj website

दाती महाराज से मंगलवार देर रात तक पूछताछ करने के बाद छोड़ दिया है। हालांकि उसे शुक्रवार को दोबारा पूछताछ के लिए बुलाया है। क्राइम ब्रांच के सीनियर अफसरों ने उनसे 5 घंटे तक गहन पूछताछ की।

इस दौरान दुष्कर्म के आरोपी दाती महाराज उर्फ मदनलाल ने खुद को निर्दोष बताया।उसका कहना है कि वह नागा बाबा है और नागा बाबा दुष्कर्म नहीं करते। दुष्कर्म करना या शारीरिक संबंध बनाना गलत बात होती है।

मामले की जांच की अगुवाई कर रहे अपराध शाखा के संयुक्त आयुक्त आलोक कुमार ने बताया कि जिन पहलुओं की जांच की जरूरत है, उसके लिए ही बाबा को दोबारा बुलाया गया है। इसलिए बाबा को दोबारा शुक्रवार को एक बार फिर से पूछताछ के लिए अपराध शाखा के चाणक्यपुरी स्थित कार्यालय में आना पड़ेगा।

कुमार ने बताया कि बाबा ने पूछताछ के दौरान सभी सवालों के जवाब दिए। इसमें बाबा ने पीड़िता द्वारा लगाए गए कई आरोपों से इंकार किया जबकि कई के बारे में अपना पक्ष भी रखा। पूछताछ की इस कार्रवाई के दौरान बाबा के बयान रिकॉर्ड भी किए गए।

पूछताछ में दाती ने कहा कि बच्ची (पीड़ित युवती) को किसी ने भटका दिया है। नाम पूछने पर बताया कि ऐसा सचिन जैन नाम के शख्स ने किया है। दाती ने बताया कि वह बच्ची को बचपन से जानता है। बच्ची का पिता उसका भक्त था। साथ ही बच्ची भी आश्रम में ही पढ़ी लिखी है। उसने एमसीए की पढ़ाई की है।

उसका कहना है कि जमीनी मामले की वजह से यह सारा विवाद पैदा हुआ है। पुलिस ने इस विवाद के बारे में जानकारी जुटाई। पुलिस के मुताबिक, दुष्कर्म के तीन अन्य आरोपी दाती महाराज के सौतेले भाई हैं। पुलिस ने तीनों को बुधवार के दिन पूछताछ के लिए बुलाया है।

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?