titli 1539172203 618x347

भुवनेश्वर । चक्रवाती तूफ़ान ‘तितली’ बेहद ही तेज़ी से ओड़िसा की और बढ़ रहा है। इस तूफ़ान की तीव्रता को देखते हुए उड़ीसा सरकार ने स्कूल, कॉलेज बंद करने के आदेश दे दिए है। इसके अलावा क़रीब 5 तटीय जिलो में अलर्ट जारी कर दिया गया है और लोगों को घर ख़ाली करने का निर्देश दिया जा रहा है। मौसम विभाग के अनुसार ‘तितली’ तूफ़ान में क़रीब 145 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से तेज़ हवाए चल सकती है। मौसम विभाग का यह भी कहना है की इस तूफ़ान में एक मीटर तक ऊँची लहरें उठ सकती है।

फ़िलहाल यह उड़ीसा तट से क़रीब 300 किलोमीटर की दूरी पर है। बताया जा रहा है की यह गुरुवार सुबह तक ओडिशा के गोपालपुर और आंध्र प्रदेश के कलिंगापत्तनम के बीच पहुंच सकता है। उड़ीसा के कई तटीय इलाक़ों में बुधवार को बारिश हुई। मौसम विभाग ने गुरुवार तक कई इलाकों में भारी से बहुत भारी वर्षा और कुछ इलाकों में बहुत ज्यादा भारी बारिश का अनुमान जताया है। मौसम विभाग ने बताया कि गंजम, गजपति, पुरी, जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, खुर्दा, नयागढ़, कटक, जाजपुर, भद्रक और बालासोर जैसे जिलों में गुरुवार तक भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है।

इस तूफान को देखते हुए शाम 6.40 बजे से हैदराबाद विशाखापटनम और दुव्वदा से ट्रेनें नहीं चलेंगी। शाम आठ बजे से खुर्दा रोड और विजयनगरम खंड के बीच ट्रेनों के परिचालन पर अगले आदेश तक रोक लगा दी गई है। हावड़ा-खड़गपुर से अप ट्रेनें और भदड़क से शाम 5.15 से अगले आदेश तक ट्रेनों के परिचालन पर रोक लगा दी गई हैं।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

तितली के विकराल रूप को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने हालात का जायजा लिया। उन्होंने गंजम, पुरी, खुर्दा, केंद्रपाड़ा और जगतसिंहपुर जिलों के कलेक्टरों से तटीय क्षेत्र में निचले इलाकों में रह रहे लोगों से तुरंत घर खाली कराने के लिए कहा है। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से यह भी कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि कोई भी हताहत ना हो और आपदा के दौरान लोगों के रहने के लिए चक्रवात शरणार्थी शिविरों को तैयार रखने के लिए कहा है। चक्रवात “तितली” के गुरुवार को करीब साढ़े पांच बजे पहुंचने की संभावना है।

Loading...