Monday, July 26, 2021

 

 

 

कोरोना से बचने के लिए पिया था गौमूत्र हुआ अब बीमार, पुलिस ने किया बीजेपी नेता को गिरफ्तार

- Advertisement -
- Advertisement -

बुधवार को पुलिस ने गोमूत्र पार्टी का आयोजन करने वाले एक बीजेपी कार्यकर्ता को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने ये गिरफ्तारी गोमूत्र पीने से बीमार हुए शख्स की शिकायत के बाद की है।

पुलिस के मुताबिक, सोमवार को उत्तरी कोलकाता के जोरासाखो क्षेत्र का एक स्थानीय बीजेपी कार्यकर्ता नारायण चटर्जी (40), द्वारा एक गौशाला में गौ पूजा कार्यक्रम आयोजित किया था। पीड़ित व्यक्ति का आरोप है कि इस कार्यक्रम में यह कहकर गौमूत्र वितरित किया गया था कि गौमूत्र पीने से कोरोना वायरस का असर खत्म हो जाता है। इतना ही नहीं इस कार्यक्रम में गौमूत्र के चमत्कारी गुणों का दावा किया गया था।

पीड़ित व्यक्ति ने अपनी शिकायत में कहा कि गौमूत्र पीने के बाद उसकी तबियत और ख़राब हो गई। पीड़ित ने आरोप लगाया कि उसे गौमूत्र के चमत्कारी फायदे बताकर गौमूत्र पीने के लिए विवश किया गया था। इस घटना के बाद बीजेपी नेता चटर्जी ने अपनी सफाई में कहा कि गोमूत्र वितरित अवश्य किया गया था, लेकिन उन्होंने लोगों को धोखा देकर इसका सेवन करने के लिए मजबूर नहीं किया। जब उन्होंने इसे वितरित किया तो उन्होंने स्पष्ट रूप से कह दिया था कि यह गोमूत्र है। चटर्जी ने कहा कि उसने किसी को भी इसे पीने के लिए मजबूर नहीं किया।

वहीं भाजपा की पश्चिम बंगाल (West Bengal) ईकाई के प्रमुख दिलीप घोष ने कहा कि गोमूत्र पीने में कोई नुकसान नहीं है और उन्हें यह स्वीकार करने में कोई पछतावा नहीं कि वह इसका सेवन करते हैं। उनकी पार्टी की सांसद लॉकेट चटर्जी हालांकि घोष की राय से इत्तेफाक नहीं रखतीं और उन्होंने इसे “अवैज्ञानिक मान्यता” करार देते हुए बंद करने की हिमायत की। कोरोना वायरस के उपचार के तौर पर गोमूत्र वितरण की सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस (TMC) और विपक्षी कांग्रेस ने तीखी आलोचना की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles