gog

पिछले साल जम्मू-कश्मीर में एक शख्स को पत्थरबाज बताकर जीप के आगे बांधकर चर्चा में आए भारतीय सेना के मेजर लीतुल गोगोई के खिलाफ नाबालिग लड़की से जुड़े विवाद में सेना ने कोर्ट ऑफ इनक्‍वायरी शुरू कर दी है.

बता दें कि मेजर गोगोई एक नाबालिग लड़की के साथ होटल से हिरासत में लिए गए थे. उन पर आरोप है कि वे लड़की के साथ रात बिताना चाहते थे. लेकिन होटल की और से अनुमति नहीं मिलने पर उन्होंने झगडा किया था. जिसके बाद पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया था.

सेना की इस जांच के दौरान घटना की परिस्थितियों का परीक्षण किया जाएगा। उसके बाद ‘जल्‍द ही’ कोर्ट ऑफ इनक्‍वायरी की रिपोर्ट दाखिल की जाएगी। ध्यान रहे सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत कह चुके है कि अगर मेजर गोगोई ‘किसी भी अपराध’ में दोषी पाए जाते हैं तो उन्हें कड़ी सजा दी जाएगी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस मामले पर उन्होंने कहा था, “अगर भारतीय सेना का किसी भी रैंक का अधिकारी ग़लत करता है और हमें इसकी जानकारी मिलती है तो उसके खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाएगा. अगर मेजर गोगोई ने कुछ भी ग़लत किया होगा तो उन्हें सजा दी जाएगी और सजा ऐसी होगी जो दूसरों के लिए मिसाल होगी.”

सेना प्रमुख के बयान के कुछ देर बाद ही सेना ने मेजर गोगोई के खिलाफ कोर्ट ऑफ इनक्वायरी का आदेश दे दिया गया था. अब गोगोई के खिलाफ जांच पूरी होने के बाद आगे की कारवाई की जाएगी.

Loading...