Sunday, December 5, 2021

जेएनयू में इस्लामिक आतंकवाद’ पर कोर्स, छात्रसंघ ने किया जमकर विरोध

- Advertisement -

जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी में इस्लामिक टेरेरिजम का कोर्स शुरू किया गया है. अकडेमिक काउंसिल की मीटिंग में इस कोर्स को मंजूरी दी गई. जिसका जमकर विरोध हो रहा है.

द न्यू इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक जेएनयू की 145वीं अकादमिक परिषद की शुक्रवार को ही बैठक हुई थी. इसमें तय किया गया कि यूनिवर्सिटी में राष्ट्रीय सुरक्षा अध्ययन पर एक विशेष केंद्र शुरू किया जाए. इसी केंद्र के तहत ‘इस्लामिक आतंकवाद’ विषय पर पढ़ाई शुरू करने का भी निर्णय हुआ है. बताया जाता है कि इस बैठक में परिषद के 110 में से लगभग 100 सदस्य मौज़ूद थे. इन सदस्यों में से कई ने ‘इस्लामिक आतंकवाद’ पर पढ़ाई शुरू करने के प्रस्ताव का विरोध भी किया है.

जेएनयू शिक्षक संघ के पदाधिकारी सुधीर के सुथर ने बताया कि परिषद के कई सदस्यों ने इस्लामिक आतंकवाद पर पाठ्यक्रम शुरु करने के प्रस्ताव का यह कहते हुए विरोध किया कि यह सांप्रदायिक स्वभाव का पाठ्यक्रम है.

वहीँ जेएनयू स्टूडेंट्स यूनियन की वाइस प्रेजिडेंट सिमोन जोया खान ने बताया कि जेएनयू वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने यूनिवर्सिटी में नैशनल सिक्यॉरिटी स्टडीज स्पेशल सेंटर शुरू करने के प्रपोजल और इसके तहत इस्लामिक टेररिजम कोर्स शुरू करने की इजाजत दी है. यूनियन का कहना है कि इस कोर्सों का मकसद आरएसएस-बीजेपी का चुनावी प्रचार लगता है, जबकि यूनिवर्सिटी को आतंकवाद के नेचर की पढ़ाई करवानी चाहिए.

वहीं छात्रसंघ द्वारा इस कदम को सांप्रदायिक करार दिया जा रहा है. छात्रसंघ द्वारा कहा गया है, ‘अकादमिक कोर्स के नाम पर इस्लामोफोबिया का यह विचित्र प्रोपगैंडा फैलाना बहुत ही दिक्कत वाली बात है.’

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles