mso1

mso2

नई दिल्ली। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा मुसलमानों के पवित्र शहर येरूशलम को इजरायल की राजधानी बनाए जाने के प्रस्ताव का विरोध शुरू हो गया है. भारत में छात्रों के सबसे बड़े स्टूडेंट संगठन मुस्लिम स्टूडेंट ऑर्गेनाइजेश ऑफ इंडिया (एमएसओ) ने कड़ा विरोध जताया है. एमएसओ ने पूरे देश में इसके खिलाफ प्रदर्शन किया है. एमएसओ की मांग है कि येरूशलम फिलीस्तीन की राजधानी है, उसे फिलीस्तीन के हवाले ही किया जाना चाहिए.

देश की राजधानी दिल्ली में एमएसओ कार्यकर्ताओं ने मुफ्ती अशफाक हुसैन के नेतृत्व में विरोध मार्च निकाला. एमएसओ कार्यकर्ताओं ने विरोध करते हुए इजरायल का झंडा भी फूंका वही डोनाल्ड ट्रंप के जमकर नारेबाजी भी की.

जयपुर में एमएसओ कार्यकर्ताओं ने मुफ्ती खालिद अयूब मिस्बाही के नेतृत्व में प्रदर्शन करते हुए इजरायल का झंडा जलाया. साथ ही अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के फैसले के खिलाफ अपना विरोध जताया. वहीं फालना जोधपुर में भी एमएसओ कार्यकर्ताओं ने सड़क पर उतरकर प्रदर्शन किया. कार्यकर्ताओं ने इजरायल का झंडा जलाकर अपना विरोध जताया.

mso3

वहीं मुंबई मरजा एकेडमी के सईद नूरी रजा के नेतृत्व यौमे गसब मनाया गया. कार्यकर्ताओं ने फिलीस्तीन के समर्थन में नारेबाजी की साथ ही इजरायल का कड़ा विरोध किया. इसके अलावा भिवंडी में भी शकील रजा के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने विरोध किया.

इसके अलावा यूपी की राजधानी लखनऊ, हैदराबाद, कश्मीर और नॉर्थ ईस्ट सहित पूरे देश में विभिन्न संगठनों ने विरोध प्रदर्शन किया.  इस प्रोटेस्ट रजा एकेडमी और तंजीम उलेमा ए इस्लाम के कार्यकर्ता भी शामिल थे.

आपको बता दें अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने येरूशलम को इजरायल की राजधानी के तौर पर मान्यता दी है. साथ ही अमेरिकी दूतावास को तेल अवीव (वर्तमान इजरायल की राजधानी) से येरूशलम शिफ्ट करने का भी ऐलान किया है. पूरी दुनिया में डोनाल्ड ट्रंप के इस फैसले का विरोध हो रहा है.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें