Thursday, August 5, 2021

 

 

 

देश को हिंदू-मुस्लिम से नहीं बल्कि कट्टरता से है खतरा: हार्दिक पटेल

- Advertisement -
- Advertisement -

एनडीटीवी के कार्यक्रम ‘हम लोग’ में शामिल हुए पाटीदार आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल ने बुलंदशहर में इंस्पेक्टर की हत्या का ज़िक्र करते हुए कहा कि ख़तरा हिंदू या मुस्लिम से नहीं कट्टरता से है।

हालिया विधानसभा चुनाव नतीजों पर हार्दिक पटेल ने कहा कि भले ही कांग्रेस 3 राज्यों में जीत गई हो लेकिन ईवीएम से छेड़छाड़ का सवाल अभी भी बना हुआ है। मध्यप्रदेश में काफी देर से आए नतीजे फिर से सवाल उठा रहे हैं। चुनावों में कांग्रेस के पक्ष में प्रचार कर चुके हार्दिक पटेल ने कहा कि मैं सत्ता के ख़िलाफ़ हूं, अगर मध्यप्रदेश में कांग्रेस सरकार ने किसानों का क़र्ज़ माफ़ नहीं किया तो जनवरी में वहां होने वाली रैली में मैं कांग्रेस का विरोध करूंगा।

हार्दिक ने कहा कि राहुल गांधी ईमानदारी से अपनी बात रखते हैं और प्रधानमंत्री मोदी की तरह झूठ और ध्रुवीकरण का सहारा नहीं लेते। मोदी के सामने कौन का सवाल बेमानी है, मिसाल के तौर पर कपिल देव खेलते थे तो लगता था कि भारतीय क्रिकेट टीम में कपिल के बाद कौन? लेकिन फिर सचिन तेंदुलकर आए और सचिन के बाद विराट कोहली।

हार्दिक पटेल ने माना कि उनका परिवार बीजेपी समर्थक था और 2014 में उन्होंने भी नरेंद्र मोदी को वोट दिया। उसके बाद जब वो गांव से बाहर निकले तो उन्हें असली गुजरात मॉडल का पता चला जो साबरमती रिवर फ्रंट से अलग था, गांवों की हालत शहरों से अलग थी, फिर हक़ मांगने पर पाटीदार समाज के लोगों का दमन किया गया जिसके बाद वो बीजेपी से अलग हो गए।

पाटीदार समुदाय तो संपन्न है और उसे आरक्षण की क्या ज़रूरत के सवाल पर हार्दिक ने कहा कि देश जातियों से बना है और जिसकी जितनी संख्या भारी, उसकी उतनी हिस्सेदारी। हार्दिक ने कहा कि जिस तरह मराठा आरक्षण दिया गया है उसी तरह पटेलों को आरक्षण देना चाहिए, सभी संपन्न नहीं है, इस आधार पर आरक्षण नहीं दिया गया तो ये ऐसे ही होगा जैसे मोदी पीएम बन जाएं तो सारे मोदी आरक्षण छोड़ दें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles