मेरठ | योगी आदित्यनाथ के उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने के बाद हिन्दू युवा वाहिनी की दबंगई की कई घटनाये सामने आ चुकी है. खासकर मेरठ में यह संगठन काफी सक्रीय नजर आ रहा है. अभी कुछ दिन पहले इस संगठन के कार्यकर्ताओ ने एक प्रेमी युगल को जबरदस्ती घर से निकालकर थाने पहुंचा दिया था जिस पर काफी विवाद भी हुआ. अब हिन्दू युवा वाहिनी ने मेरठ में एक विवादित पोस्टर लगाकर नया हंगामा खड़ा कर दिया.

इस पोस्टर में चेतावनी भरे लहजे में कहा गया है की ‘प्रदेश में रहना है तो योगी योगी कहना है’. यह पोस्टर हिन्दू युवा वाहिनी ने लगाया है लेकिन संभाग प्रभारी नागेन्द्र तोमर इससे इनकार करते है. उनका कहना है की यह पोस्टर हिन्दू युवा वाहिनी की और से नहीं लगाया गया. हम एसएसपी से मिलकर मामले की जांच कराने और दोषियों के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग करेंगे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

हालाँकि हिन्दू युवा वाहिनी ने इन पोस्टर से पल्ला झाड़ लिया है, लेकिन मेरठ में जगह जगह लगे इन पोस्टर में हिंदू युवा वाहिनी के मेरठ जिलाध्यक्ष नीरज शर्मा पांचली दिख रहे है. इस मामले पर नागेन्द्र तोमर का कहना है की नीरज शर्मा को उन्होंने ही जिलाध्यक्ष बनाया था. वो बसपा से आकर हिन्दू युवा वाहिनी से जुड़े थे. लेकिन अधिकारियो को धमकाने की कुछ शिकायत मिलने के बाद उनको पद से हटा दिया गया है.

नागेन्द्र ने आगे कहा की कुछ लोग हिन्दू युवा वाहिनी को बदनाम करना चाहते है इसलिए इस तरह के पोस्टर लगाये गये है. मैं जिला प्रशासन से मांग करूँगा की मुख्यमंत्री की छवि को नुक्सान पहुँचाने के खिलाफ जल्द से जल्द कार्यवाही की जाए. उधर विवादित पोस्टर लगने के बाद एसएसपी जे रविंद्र गौड़ ने सभी पोस्टर को हटाने के निर्देश दे दिए है. उन्होंने बताया की प्रशासन ऐसे कामो को बर्दास्त नही करेगा.

Loading...