देश के मौजूदा हालात को लेकर ईसाई समुदाय की तीखी प्रतिक्रिया आई है. गोवा के चर्च ने मोदी सरकार के शासन की तुलना हिटलर के नाजी शासन से की है.

चर्च की और से प्रकाशित पत्रिका ‘रेनोवाकाओ’ में कहा गया कि देश में ‘संवैधानिक हॉलोकॉस्ट’ चल रहा है. पत्रिका में मतदाताओं से साम्प्रदायिक ताकतों के खिलाफ वोट कर उन्हें रोकने की अपील की.

पणजी के गिरजाघर ‘बिशप्स हाउस’ द्वारा प्रकाशित होने वाली इस पत्रिका में मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर को निशाना बनाते हुए कहा, रीढ़विहीन चरित्र वाले लोगों और पूरे देश में फैली तानाशाही से प्रत्यक्ष तौर पर सहमति रखने वाले लोगों’ के खिलाफ मतदान किया जाए.

लेख में कहा गया है, ‘2012 में सभी गोवा को भ्रष्टाचार मुक्त कराने के बारे में सोच रहे थे, जो 2014 तक चला, लेकिन उसके बाद से हम भारत में हर दिन जिस चीज को तेजी से बढ़ता हुआ देख रहे हैं वह और कुछ नहीं बल्कि संवैधानिक हॉलोकॉस्ट है.

साथ ही कहा गया कि भ्रष्टाचार बेहद खराब चीज है, सांप्रदायिकता से उससे भी खराब, लेकिन नाजीवाद इन दोनों से बदतर है. लेख में लिखा है, ‘पूरा देश सिर्फ एक या दो व्यक्तियों द्वारा चलाया जा रहा है, बाकी लोग मामूली अनुचर या अंधभक्त हैं. कृपया ऐसे व्यक्ति को अपना वोट न दें, जो ऐसे लोगों के मामूली अनुचर हैं.




कोहराम न्यूज़ को लगातार चलाने में सहयोगी बनें, डोनेशन देने से पहले इस link पर क्लिक करके पढ़ें Click Here

Loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें