Sunday, September 19, 2021

 

 

 

वीएचपी का विवादित बयान – खुले में नमाज जमीन कब्जाने की साजिश, यूजर बोले – गणेश पंडाल और शाखा कौन सी साजिश ?

- Advertisement -
- Advertisement -

उत्तर प्रदेश के नोएडा के स्थानीय पार्क में नमाज अदा करने पर शुरू हुआ विवाद अब राजनीतिक रूप ले चुका है। इस विवाद अब विश्व हिन्दू परिषद भी कूद चुकी है।  वीएचपी ने इस पूरे मामले को जमीन कब्जाने की साजिश करार दिया।

विश्व हिंदू परिषद के नेता विनोद बंसल ने कहा, “पार्क में नमाज अदा करने की नौबत क्यों आयी? यह विचारनीय विषय है। आखिरकार पुलिस को हस्तक्षेप क्यों करना पड़ा? इसकी वजह ये है कि कानून का पालन न करना, जमीन पर कब्जा करना, स्थानीय लोगों को धमकी देना, ये इनकी फिदरत बन गया है। ये नोएडा तो एक हिस्सा है। इसके अलावा देश के किसी भी हिस्से में चले जाइए, जहां पर मुस्लिम बहुल क्षेत्र नहीं होता वहां पर ये लोग वहां पर पहले चार-पांच, फिर 10-12, फिर 50-60, फिर 500-1000 की संख्या में सार्वजनिक जगहों पर नमाज पढ़ते हैं। इसके बाद अस्थायी निर्माण करते हैं और फिर उसके बाद बड़ी मस्जिद बन जाती है। इसे वक्फ की संपत्ति घोषित कर दिया जाता है।”

वीएचपी नेता के इस बयान की सोशल मीडिया पर तीखी आलोचना हो रही है। यूजर पूछ रहे है कि पार्कों में लगने वाली शाखाओं और हिन्दू त्यौहारों पर लगने वाले पंडाल कौन -सी साजिश का हिस्सा है।

एक यूजर ने लिखा कि – 10 मिनट की नमाज जमीन कब्जाने की साजिश तो गरबा पंडाल, गणेश पंडाल जैसे ज़मीनों के अतिक्रमण को क्या कहा जाए। क्या प्रशासन इन पर कार्रवाई करेगा।

वहीं एक अन्य यूजर ने कावड़ यात्रा पर ही सवाल खड़े कर दिये। यूजर ने पूछा कि महीने भर कावड़ के जरिए सड़कों का जो अतिक्रमण किया जाता है। उस पर भी तो कुछ बोला जाए। वहाँ कोई साजिश नजर नहीं आती।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles