अयोध्या मामले की सुप्रीम कोर्ट में चल रही सुनवाई के बीच इकबाल अंसारी ने बाबरी मस्जिद की शहादत के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया है। बाबरी मामले के मुख्य मुद्दई अंसारी ने कहा कि मस्जिद की शहादत के वक्त कांग्रेस की ही हुकूमत थी।

उन्होने कहा, कांग्रेस की हुकूमत में ही उस समय प्रदेश के मुख्यमंत्री कल्याण सिंह ने हलफनामा दिया था कि विवादित ढांचे को कोई नुकसान नहीं होगा, लेकिन उसे तोड़ दिया गया। बाबरी मस्जिद के मुद्दई ने कहा कि कांग्रेस के ही जमाने में ताला खोला गया और शिलान्यास कराया गया।

इकबाल अंसारी ने कहा कि पूरी दुनिया जानती है कि 1949 में रात में मूर्ति रखी गई। आज भी इसका मुकदमा चल रहा है। जब ढांचा तोड़ा जा रहा था तो पूरी दुनिया देख रही थी। अयोध्या मामले की सुनवाई में हो रही है। देरी पर कहा कि हम चाहते हैं कि सुनवाई शुरू हो और फैसला आए। कोर्ट सुबूतों के आधार पर चलता है।

babri masjid

हिंदू व मुस्लिम पक्षकार भी कहते हैं कि हम कोर्ट का फैसला मानेंगे। केवल राजनीति करने वाले कहते हैं कि हम कानून बनाएंगे। 70 साल से इस मामले में राजनीति हो रही है। मामला सुप्रीम कोर्ट में है, इसके बावजूद तो बाहर ऐसा काम करते हैं जिससे हिंदू-मुसलमानों में नफरत पैदा होती है। हम ये नहीं चाहते हैं। हम समाजवादी हैं। ऐसी राजनीति करो कि हिंदू व मुसलमानों में नफरत न फैलाओ।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन