Wednesday, January 26, 2022

रमजान के परिजनों से मुलाक़ात करेंगे कांग्रेस विधायक, मुस्लिम संगठनों ने जारी की मांगों की सूची

- Advertisement -

राजस्थान के बारां जेल में खाकी वर्दीधारियों की गुंडई का शिकार बने मांगरोल मोहम्मद रमजान के परिजनों से कांग्रेस विधायक अबरार मुलाक़ात करेंगे। उन्होने बताया कि वह बुधवार (01/05/2019) को रमज़ान के पैतृक गाँव में उनके घर जाकर परिजनों से मुलाक़ात करेंगे।

उन्होने फेसबूक पोस्ट में लिखा कि जेल में हुए मोहम्मद रमजान के इंतकाल की घटना दुःखद है। अल्लाह ताला मरहुम को जन्नत में आला मकाम अता फरमाए और मरहुम के परिजनों को सब्र करने की तोफीक अता फरमाएं।
कल दिनांक 01.05.2019 शाम 05:00 बजे, ज़िला बारॉ ग्राम माँगरोल के मरहूम हसन रमज़ान के पैतृक गाँव में उनके घर पर ग़मज़दा परिवार के साथ।

“बारां जिले के मांगरोल के निवासी रमजान को 1992 में एक मामले में दोषी ठहराया गया था और दो साल के कारावास की सजा दी गई थी। उन्हें बाद में जमानत मिल गई और वह निचली अदालत के आदेश को चुनौती देते हुए उच्च न्यायालय चले गए। जब उच्च न्यायालय ने निचली अदालत के आदेश को बरकरार रखा, तो उनकी जमानत रद्द कर दी गई और उन्हे 2018 में जेल भेज दिया गया। वह बीमार थे। कुछ दिन पहले उनकी हालत बिगड़ गई। जेल से उन्हें इलाज के लिए जिला अस्पताल भेज दिया, वहां से उन्हें कोटा जिले के कोटा अस्पताल में रेफर कर दिया गया।

कोटा अस्पताल में पांच दिन पहले, अस्पताल में साथ रहने वाले कुछ पुलिसकर्मियों ने उनके साथ मारपीट की। वे नशे में थे। उन्होंने रमजान के साथ सांप्रदायिक दुर्व्यवहार भी किया। जैसा कि वह पहले से ही बीमार थे, पिटाई के बाद उनकी हालत और बिगड़ गई और शुक्रवार देर रात उनकी मौत हो गई।”

इस घटना को लेकर राज्य की काँग्रेस सरकार के खिलाफ मुस्लिम समुदाय में काफी रोष है। मुस्लिम स्टूडेंट्स ऑर्गेनाइजेशन ऑफ इंडिया के झालवाड़ जिला अध्यक्ष दिलशाद नूर ने आरोपी पुलिसकर्मियों पर धारा 302 के तहत मामला दर्ज करने, परिजनों को तत्काल 1 करोड़ की आर्थिक सहायता देने और एक सरकारी नौकरी की मांग की है। उन्होने कहा कि गहलोत सरकार तत्काल मांगे पूरी करें।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles