करकरे पर साध्‍वी प्रज्ञा के बयान पर कांग्रेस की मोदी से माफी की मांग, IPS एसोसिशन ने की चुनाव आयोग से शिकायत

7:00 pm Published by:-Hindi News

मध्य प्रदेश की भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने मुंबई हमले में शहीद पुलिसकर्मी हेमन्त करकरे की शहादत का अपमान किया है। प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि हेमंत ने मुझे गलत तरिके से फंसाया था, मैंने कहा था कि तुम्हारा पूरा वंश खत्म हो जाएगा। वो अपने कर्मों की वजह से मरें हैं।

इस मामले में कांग्रेस पार्टी के प्रवक्‍ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने तंज कसते हुए कहा कि केवल भाजपाई ही 26/11 के शहीद हेमंत करकरे को देशद्रोही घोषित करने का जुर्म कर सकते हैं। ये देश के हर सैनिक का अपमान है जो आतंकवाद से लड़ते हुए भारत मां के लिए प्राणों की क़ुर्बानी देता है। देश से माफ़ी मांगिए और प्रज्ञा पर कार्रवाई कीजिए।

उधर आम आदमी पार्टी के नेता और राज्‍यसभा सांसद संजय सिंह ने कहा है कि शहीद हेमंत करकरे की शहादत का अपमान करने वाली प्रज्ञा ठाकुर हैं भाजपा की प्रत्याशी। कहां हैं मोदी जी? शहीद के नाम पर वोट मांगते हैं और अपमान करने वाली को टिकट देते हैं।

दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्‍यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भी इसकी निंदा की है। मनीष सिसोदिया ने कहा है कि मुंबई आतंकी हमले में भारत माता की रक्षा के लिए जान देने वाले शहीद हेमंत करकरे की शहादत पर सवाल उठा रही है बीजेपी। यही है बीजेपी की देशभक्ति?

आम आदमी पार्टी के नेता और कवि कुमार विश्‍वास ने भी इसकी निंदा की है। उन्‍होंने कहा है कि मुम्बई आतंकी हमले में आतंकवादियों से सीधे भिड़ने वाले शहीद हेमंत करकरे के बलिदान को “उसके कर्मों की सज़ा” बता रही हैं भोपाल-प्रत्याशी जो मंच पर बैठे हैं वो एक चुनावी हार-जीत के लिए, बेशर्मी से ताली बजा रहे हैं? देश के लिए वर्दी में शहीद हो चुके एक सिपाही के साथ ये सलूक?

वहीं आईपीएस एसोसिएशन ने भी इसकी निंदा की है। वहीं चुनाव आयोग ने भी साध्वी प्रज्ञा के बयान पर मिली शिकायत का संज्ञान लिया है और मामले की जांच का फैसला किया है।

आईपीएस एसोसिएशन ने ट्वीट कर कहा है कि अशोक चक्र से सम्मानित आईपीएस हेमंत करकरे ने आतंकवादियों से लड़ते हुए सर्वोच्च बलिदान दिया। वो हममें से एक हैं लेकिन एक चुनावी उम्मीदवार द्वारा दिए गए अपमानजनक बयान की हम निंदा करते हैं और मांग करते हैं कि हमारे सभी शहीदों के बलिदान का सम्मान किया जाए।

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें