mp

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के आधिकारिक नतीजे घोषित होने के बाद स्पष्ट हो गया है कि प्रदेश में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला है। मंगलवार सुबह 8 बजे से शुरू हुई मतगणना बुधवार सुबह 8.15 बजे तक चली।

चुनावी नतीजों में कांग्रेस पार्टी को 114, बीजेपी को 109, बीएसपी को 2, समाजवादी पार्टी को 1 सीट तथा 4 निर्दलीय चुनाव जीते हैं। कांग्रेस राज्य में बड़ी पार्टी बनकर तो उभर गई है, मगर वह बहुमत का जादुई आंकड़ा नहीं छू पाई. कांग्रेस बहुमत के आंकड़े से दो सीटें दूर रह गई।

Loading...

कांग्रेस को राज्य में सरकार बनाने के लिए 116 सीटों की जरूरत है, मगर अब उसके पास 114 नंबर होने से मदद की जरूरत पड़ेगी। माना जा रहा है कि कांग्रेस सहयोगियों की मदद से आसानी से सरकार बना लेगी और अपना वनवास खत्म कर लेगी।

मध्‍य प्रदेश में सबसे बड़ी पार्टी कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता और राज्‍य में सीएम पद के दावेदारों में शामिल कमलनाथ ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने राज्‍यपाल को पत्र लिखकर कहा है कि उन्‍हें सरकार बनाने का मौका दिया जाए ताकि वह विधानसभा में अपना बहुमत साबित कर सकें। कमलनाथ ने दावा किया कि उन्‍हें निर्दलीय विधायकों का समर्थन हासिल है।

उधर, बहुमत से 6 सीटें दूर रह गई बीजेपी ने भी कहा है क‍ि वह राज्‍यपाल से मिलेगी और सरकार बनाने का दावा पेश करेगी। मध्‍य प्रदेश बीजेपी के अध्‍यक्ष राकेश सिंह ने मंगलवार देर रात को ट्वीट कर कहा, ‘प्रदेश में कांग्रेस को जनादेश नहीं है। कई निर्दलीय और अन्य बीजेपी के संपर्क में हैं। कल (बुधवार) राज्यपाल महोदया से मिलेंगे।’

कमलनाथ ने राज्‍यपाल आनंदीबेन पटेल को लिखे अपने पत्र में कहा, ‘कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है और उसे बहुसंख्‍यकों का समर्थन हासिल है। सभी निर्दलीयों ने भी कांग्रेस को समर्थन देने का आश्‍वासन दिया है।’ बताया जा रहा है कि राज्‍यपाल ने उन्‍हें अंतिम चुनाव परिणाम आने तक इंतजार करने को कहा है। बता दें कि इस चुनाव में कांग्रेस पार्टी वर्ष 2013 के 8.5 फीसदी वोटों का अंतर खत्‍म करने में कामयाब रही है।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें