टेलीविजन रेटिंग पॉइंट्स (टीआरपी) घोटाला मामले रिपब्लिक टीवी के प्रधान संपाक अर्नब गोस्वामी के खिलाफ मुंबई के 94 पुलिस थानों में शिकायत दर्ज हुई है। मुंबई कांग्रेस की ओर से बुधवार को ये शिकायत दर्ज कराई गई।

मुंबई कांग्रेस के अध्यक्ष भाई जगताप ने बताया कि वह स्वयं कार्याध्यक्ष चरणजीत सिंह सप्रा और महासचिव भूषण पाटील तथा संदेश कोंडविलकर के साथ मुंबई पुलिस आयुक्त परमवीर सिंह से मिले और अर्नब के खिलाफ शिकायत की लिखित अर्जी दी। उन्होने कहा कि मुंबई कांग्रेस ने मांग की है कि अर्नब गोस्वामी को राष्ट्रीय सुरक्षा कानून 1980 और ऑफिशल सीक्रेट ऐक्ट 1923 के तहत तत्काल गिरफ्तार किया जाना चाहिए। पुलिस आयुक्त ने उन्हें भरोसा दिलाया है कि कानूनी प्रावधानों के तहत अर्नब गोस्वामी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

वहीं दूसरी और फेक टीआरपी केस में मुंबई पुलिस ने बॉम्बे हाईकोर्ट में दिए एक हलफनामे में कहा- जांच अब महत्वपूर्ण चरण में पहुंच गई है। अगर रिपब्लिक टीवी के अर्नब गोस्वामी, ARG आउटलेटर मीडिया प्राइवेट लिमिटेड और अन्य अभियुक्तों के बीच कोई साठगांठ पाई गई तो ‘आपराधिक दोष के लिए उन्हें जिम्मेदार ठहराया जा सकता है।’

हलफनामे में कहा गया, ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल (BARC) ने टीवी चैनलों के संबंध में संदिग्ध गतिविधि की पुष्टि की है जिसमें याचिकाकर्ता नंबर 2 (अर्नब गोस्वामी) एक निर्देशक है। अभी तक की जांच से पहली नजर में रेटिंग्स में हेरफेर के लिए दूसरों के साथ बार्क अधिकारियों की मिलीभगत के संकेत मिलते है। BARC टीवी चैनलों की दर्शकों की संख्या को मापता है।

इसके अलावा पुलिस ने अर्नब और रिपब्लिक टीवी चैनलों को चलाने वाली कंपनी ARG आउटलेटर मीडिया प्राइवेट लिमिटेड की याचिका को खारिज करने की मांग की जिसमें जांच सीबीआई को सौंपने की मांग की गई।