2008 में मालेगांव में हुए ब्लास्ट के केस में मुख्या आरोपी ले. कर्नल प्रसाद पुरोहित की जमानत याचिका को मुंबई की एनआईए कोर्ट ने ख़ारिज कर दिया हैं.

आरोपी कर्नल प्रसाद पुरोहित को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) मुंबई की विशेष अदालत ने याचिका को ख़ारिज करते हुए जमानत देने से इंकार कर दिया. कर्नल पुरोहित अभिनव भारत संस्था का प्रमुख हैं और मालेगांव में हुए ब्लास्ट का मास्टरमाइंड होने के साथ  ब्लास्ट में आरडीएक्स उपलब्ध कराने में भी इसका ही हाथ था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

एनआईए के अनुसार पुरोहित ने ही हथियार और विस्फोटक मुहैया कराए थे इसके अलावा उसने अभिनव भारत ट्र्स्ट का गठन सीनियर आर्मी अफसरों की जानकारी में किया था. और इस संघठन को राजनीतिक पार्टी के रूप में पंजीकृत किया जाना था.

एनआईए ने समझौता विस्फोट मामले के सिलसिले में आठ लोगों के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया है जिनमें नभ कुमार सरकार उर्फ स्वामी असीमानंद, दिवंगत सुनील जोशी उर्फ सुनीलजी, रामचंद्र कलसंगरा, संदीप दांगे (दोनों फरार), लोकेश कुमार, कमल चौहान, अमित और राजेंद्र चौधरी शामिल हैं.

Loading...