राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की शाखा विश्व हिंदू परिषद (विहिप) और बजरंग दल को अमेरिका की खूफिया एजेंसी सीआईए ने धार्मिक उग्रवादी संगठन बताया है। सीआईए (सेंट्रल इंटेलीजेंस एजेंसी) ने हाल ही में अपनी वर्ल्ड फैक्टबुक को अपडेट कर पब्लिश किया है, इसी फैक्टबुक में विहिप और बजरंग दल को धार्मिक उग्रवादी संगठन बताया गया है।

सूत्रों के अनुसार, विहिप और बजरंग दल ने सीआईए द्वारा उग्रवादी संगठन बताए जाने पर गहरी नाराजगी जतायी है और अब ये संगठन सीआईए के इस फैसले के खिलाफ कानूनी कारवाई करने पर विचार कर रहे हैं।

द प्रिंट की एक खबर के अनुसार, बजरंग दल का कहना है कि यह बात उनके नोटिस में कुछ दिन पहले आयी है और फिलहाल हम कानूनी कारवाई के लिए विशेषज्ञों से सलाह ले रहे हैं। बता दें कि सीआईए ने विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल को पॉलिटिकल प्रेशर ग्रुप और लीडर्स कैटेगरी के तहत धार्मिक उग्रवादी संगठन बताया है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बजरंग दल के नेताओँ का कहना है कि “कोई खूफिया एजेंसी हमारे संगठन को उग्रवादी संगठन कैसे घोषित कर सकती है? किसने उन्हें यह अधिकार दिया है? हमारी विदेशों में भी शाखाएं है और हमने कभी किसी को कोई चोट नहीं पहुंचायी है। हम राष्ट्रवादी है और हम देखेंगे कि इस मसले पर क्या किया जा सकता है।” बता दें कि वर्ल्ड फैक्टबुक सीआईए का वार्षिक पब्लिकेशन है, जिसमें पूरी दुनिया के देशों की जानकारी होती है। भूगोल, जनसंख्या, सरकार, अर्थव्यवस्था और सेना आदि की जानकारी इस फैक्टबुक में उपलब्ध होती है। इस फैक्टबुक का इस्तेमाल अमेरिकी सरकार द्वारा किया जाता है। साथ छात्रों द्वारा पेपर तैयार करने, और गैर-सरकारी पब्लिकेशन में भी इस फैक्टबुक का इस्तेमाल किया जाता है।

Loading...