Wednesday, January 19, 2022

स्वामी चिन्मयानंद से पूछताछ करने गई पुलिस टीम आश्रम से खाली लौटी

- Advertisement -

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी के पूर्व सांसद स्वामी चिन्मयानंद से पूछताछ करने गई पुलिस टीम उनके हरिद्वार आश्रम से वापस खाली हाथ लौट आई है। दरअसल टीम को चिन्मयानंद वहां नहीं मिले।

नगर पुलिस अधीक्षक दिनेश त्रिपाठी ने मंगलवार को बताया कि स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ पीड़िता के पिता द्वारा दर्ज कराई गई रिपोर्ट के क्रम में एक टीम उनसे पूछताछ के लिए उनके हरिद्वार आश्रम भेजी गई थी। वहां वह नहीं मिले। टीम सोमवार को वापस लौट आई।

दिनेश त्रिपाठी ने बताया कि लड़की के परिजन दिल्ली में हैं, परंतु उनके घर पर पुलिस तैनात है। इसके अलावा पुलिस बराबर पूरे मामले की निगरानी कर रही है और लड़की के पिता या परिवार को अधिक सुरक्षा की आवश्यकता प्रतीत होगी तो वह उपलब्ध कराई जाएगी।

वहीं, दिल्ली से पीड़िता के पिता ने फोन पर बताया कि वो अपनी बेटी से मिलने पहुंचे तो बेटी काफी भयभीत थी और वह अपनी मां के सीने से लगकर रोने लगी। उन्होंने कहा- इसके बाद मैंने और उसकी मां ने उसे आश्वस्त किया कि प्रशासन और शीर्ष अदालत उसके साथ है। परिवार को कोई नुकसान नहीं होगा।

लड़की के पिता ने अपनी बेटी के हवाले से कहा कि वह घर वापस आना चाहती थी, परंतु उसे लगा कि अगर वह वापस चली गई तो उसका पूरा परिवार मार दिया जाएगा, इसीलिए वह अपने दोस्त के साथ राजस्थान चली गई थी। पिता ने कहा कि बेटी ने उन्हें बताया है कि उसके पास स्वामी चिन्मयानंद के विरुद्ध सभी साक्ष्य मौजूद हैं। उन्होंने कहा कि चिन्मयानंद के विरुद्ध सारे साक्ष्य मौजूद हैं और उन्होंने जो किया है, उसका उन्हें दंड तो दिलवाकर ही रहेंगे।

मालूम हो कि शाहजहांपुर की एलएलएम की छात्रा ने पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता चिन्मयानंद पर उसका और कई लड़कियों का यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया था। फेसबुक लाइव वीडियो में आरोप लगाने के बाद वह लापता हो गई । इस मामले में कुछ वकीलों ने सुप्रीम कोर्ट से स्वत: संज्ञान लेने का अनुरोध किया था। जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को उत्तर प्रदेश सरकार को जांच के लिए विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन निर्देश दिया। साथ ही कहा कि जांच की निगरानी इलाहाबाद हाईकोर्ट करे।

सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार को आदेश दिया है कि आईजी स्तर के अधिकारी से मामले की जांच करवाई जाए। इतना ही नहीं शाहजहांपुर के एसएसपी को लड़की और उसके परिवार को सुरक्षा मुहैया कराने का निर्देश भी दिया है। उच्चताम न्यायालय ने कहा कि दिल्ली पुलिस बुधवार तक छात्रा और उसके पेरेंट्स की सुरक्षा करे। मामले की अगली सुनवाई बुधवार को होगी।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles