आत्मनिर्भर भारत के बीच ICICI Bank में चीनी बैंक ने किया बड़ा किया निवेश

लद्दाख में 20 जवानों की शहादत के बाद देश में जारी ‘बायकॉट चाइना’ और ‘आत्मनिर्भर भारत’ अभियान के बीच चीन के केन्द्रीय बैंक ‘पीपल्स बैंक ऑफ चाइना’ ने आईसीआईसीआई बैंक में बड़ा निवेश किया है। इससे पहले पिछले साल मार्च में चीन के केंद्रीय बैंक ने एचडीएफसी में भी निवेश किया था।

इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट के मुताबिक पीपुल्‍स बैंक ऑफ चाइना, ने एचडीएफसी के बाद अब आईसीआईसीआई में भी इस वर्ष कुछ हिस्‍सेदारी खरीद ली है। पीपुल्स बैंक ऑफ चाइना म्यूचुअल फंडों, बीमा कंपनियों सहित उन 357 संस्थागत निवेशकों में शामिल है जिन्होंने हाल में आईसीआईसीआई बैंक के क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल प्लेसमेंट (क्यूआईपी) ऑफर में 15,000 करोड़ रुपए का निवेश किया है।

बिजनेस टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, चीन के केंद्रीय बैंक ने 15 करोड़ रुपये का निवेश किया है। यह निवेश क्यूआईपी के जरिए किया गया। माना जा रहा है कि अमेरिका और यूरोप के साथ चल रही तनातनी के चलते चीन द्वारा भारत और अन्य पड़ोसी देशों में निवेश किया जा रहा है।

आईसीआईसीआई बैंक ने शनिवार को कहा था कि उसने अपने क्यूआईपी के तहत इक्विटी शेयरों का आवंटन पूरा कर लिया है और लगभग 15,000 करोड़ रुपये जुटाए हैं। इस राशि का इस्तेमाल कारोबार की वृद्धि और नियामकीय पूंजी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए किया जाएगा।

बैंक ने एक बयान में कहा था कि क्यूआईपी के तहत निवेशकों को 358 रुपये प्रति शेयर के निर्गम मूल्य पर 41.89 करोड़ शेयर आवंटित किए गए हैं। बैंक ने शुरुआत में अपने क्यूआईपी के लिए प्रति शेयर 351.36 रुपये की न्यूनतम कीमत निर्धारित की थी। निर्गम 10 अगस्त को खुला और 14 अगस्त को बंद हुआ था।

विज्ञापन