Sunday, October 24, 2021

 

 

 

मिसाइलों की तैनाती के बाद अब चीन ने जे -20 फाइटर जेट्स भी तैनात किए

- Advertisement -
- Advertisement -

हाल ही में खबर आई थी कि चीन ने भारत से लगती सीमा पर तिब्बत में नए स्थानों पर सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइलों (एसएएम) की तैनाती की है। मिसाइलोंं की तैनाती सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश, उत्तराखंड और लद्दाख में भारतीय सीमा से सटे इलाकों में की गई है।

अब खबर है कि पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के वायु सेना ने एक बार फिर से J-20 लड़ाकू विमान को सीमा पर तैनात कर दिया है। जे -20 को पीएलएएएफ द्वारा हॉटन एयर बेस पर तैनात किया गया है और वे लद्दाख और आस-पास के इलाकों में भारतीय क्षेत्र के करीब उड़ान भर रहे हैं।

बता दें कि दो दिन पहले 29-30 अगस्त की रात को भारत और चीन के सैनिकों की बीच एक बार फिर से झड़प का मामला सामने आया है। ईस्टर्न लद्दाख क्षेत्र में पैंगोंग झील इलाके के पास चीनी सैनिकों ने गतिविधि की। जिसका भारतीय सैनिकों ने विरोध किया। प्रेस इन्‍फॉर्मेशन ब्‍यूरो की रिलीज के अनुसार, सेना ने चीन को आगे बढ़ने नहीं दिया। भारत ने इस इलाके में तैनाती और बढ़ा दी है।

सरकार की और से जारी बयान के मुताबिक, 29-30 2020 की रात को चीनी सेना PLA के जवानों ने पिछली बैठकों में जो समझौता हुआ था उसे तोड़ा और ईस्टर्न लद्दाख के पास हालात को बदलने की कोशिश करते हुए घुसपैठ की। हालांकि, भारतीय जवानों ने PLA की इस कोशिश को नाकाम किया और पैंगोंग लेक के दक्षिणी किनारे पर ही चीनी सेना को घुसपैठ से रोक दिया।

ड़प के नए मामले में चीन के विदेश मंत्री का बयान आया है। चीन की सरकार के मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स में उन्होने कहा कि हमने तो एलएसी (लाइन ऑफ एक्शन कंट्रोल) पार ही नहीं की है। वहीं चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता झाओ लिजिन ने कहा कि चीन के सैनिक हमेशा से कड़ाई से वास्‍तविक नियंत्रण रेखा का पालन करते हैं। वे कभी एलएसी को पार नहीं करते हैं। दोनों ही तरफ की सेनाएं वहां की स्थिति को लेकर बातचीत कर रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles