चीफ जस्टिस बोले, फर्जी एनकाउंटर के लिए कोई जगह नहीं, इसके लिए जिम्मेदार है सरकार

शुक्रवार को विश्व मानवाधिकार के मौके पर सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज और राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) के मौजूदा अध्यक्ष जस्टिस अरुण मिश्रा ने फर्जी एनकाउंटर को लेकर बड़ी बात कही है, फर्जी एनकाउंटर जैसे मामलों को बिल्कुल भी देश में बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है।

सरकार की जिम्मेदारी बनती है लोगों के प्रति और सरकार को सुनिश्चित करना चाहिए ऐसी घटनाएं ना हो। जनसत्ता में प्रकाशित खबर के अनुसार उन्होंने आगे कहा की, सभी के अधिकार पूर्ण तो नहीं है परंतु सामाजिक ताने-बाने के हिसाब से उनका ध्यान रख सकते हैं। उन्होंने कहा अधिकार और कर्तव्य एक ही सिक्के के पहलू हैं।

इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के तौर पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद भी मौजूद थे। देश में न्याय मिलने में देरी पर भी जस्टिस मिश्रा ने कहा की, न्याय मिलने में देरी होती है इसलिए लोग कानून अपने हाथ में ले लेते हैं।

उन्होंने कहा देश में शीघ्र न्याय देने की व्यवस्था बहुत जरूरी है। आगे कहते हैं कि आयोग इस बात को सुनिश्चित करेगा फिर राज्य अपनी जिम्मेदारी पूरी तरह निभाए और लोगों के हित में जिन नीतियों को बनाया गया है उनका अच्छे से पालन किया जाए।

विज्ञापन