बुधवार को आधार कार्ड और डेटा की गोपनीयता को लेकर वित्त मंत्री अरुण जेटली और पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम के बीच संसद में जमकर बहस हुई.

चिदंबरम ने क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी की आधार डीटेल लीक होने के मामले को उठाते हुए कहा, “पेंटागन को हैक किया जा रहा है – ऐसे में क्या गारंटी है कि आप आधार को हैक होने से रोकेंगे? साथ ही उन्होंने  कहा, “धोनी की पत्नी ने शिकायत दर्ज कराई है कि उनके पति की आधार डीटेल सार्वजनिक हो गई है.

पी चिदम्बरम के इस सवाल के जवाब में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भी हमला किया और कहा, ‘पेंटागन बिना आधार कार्ड के ही हैक हो गया, इसलिए हैकिंग बिना आधार कार्ड के भी हो सकता है.’ हालांकि चिदम्बरम जेटली के सवाल पर संतुष्ट नहीं हुए.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने कहा, सवाल को घुमाने की कोशिश मत कीजिए, अगर आपको जवाब नहीं देना है तो ऐसा साफ साफ कहिए. इस पर जेटली ने उत्तर देते हुए कहा, “सुरक्षा नियमों का उल्लंघन कहीं भी हो सकता है.”

चिदम्बरम ने कहा कि आधार कार्ड में बैंक, निजी जानकारियां होती है, और ये जानकारियां मोबाइल, आईटी रिटर्न से जुड़ी होती हैं सरकार के पास इसे हैक होने से बचाने के लिए मैकेनिज्म होनी चाहिए, नहीं तो इसका दुरुपयोग हो सकता है, जैसा कि धोनी की पत्नी के पास हुआ

Loading...