बनारस के निकट मशहूर मुग़लसराय रेलवे स्टेशन का नाम बदल दिया गया है. अब इसको जनसंघ के नेता दीन दयाल उपाध्याय का नाम दिया गया है. योगी सरकार के इस फैसले को केंद्र की मोदी सरकार ने भी मंजूरी दे दी है.

इस सबंध में जल्द ही उत्तर प्रदेश सरकार को इस सबंध में अनापत्ति प्रमाण पत्र यानी एनओसी भेज दी जाएगी. रेल मंत्रालय, गुप्तचर विभाग और दूसरे कई विभागों ने गृह मंत्रालय के समक्ष मुग़लसराय रेलवे स्टेशन का नाम बदले जाने पर कोई आपत्ति भी नहीं की है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वहीँ राज्यसभा में मुगलसराय स्टेशन का नाम बदलने को लेकर मानसून सत्र के दौरान जोरदार हंगामा हुआ. सपा सांसद नरेश अग्रवाल ने इस मुद्दे पर सदन में कहा कि सरकार सारे पुराने शहरों और जगहों के नाम बदल रही है.

उन्होंने कहा कि सरकार यूपी का भूगोल बदलने की कोशिश कर रही है. यह देश का सबसे पुराना रेलवे स्टेशन है. लसराय जंक्शन भारत के सर्वाधिक व्यस्त रेलवे स्टेशनों में एक है. साथ ही यह रेलवे का एशिया का सबसे बड़ा यार्ड है.

Loading...