हज कमेटी ऑफ इंडिया ने इस बार हज के लिए यात्रियों की आरोग्य प्रमाण (मेडिकल फिटनेस) संबंधी नियमों में परिवर्तन कर दिया है। इसके तहत हज यात्रियों को चेस्ट एक्सरे, सीबीसी रिपोर्ट, ब्लड ग्रुप और एसबीबीएस चिकित्सक का आरोग्य प्रमाण पत्र देनी होगी। इसके लिए एक प्रोफॉर्मा जारी किया गया है।

जबकि अभी तक एमबीबीएस डॉक्टर की आरोग्य प्रमाण पत्र के आधार पर ही यात्रा की अनुमति मिल जाती थी। आरोग्य प्रमाण पत्र के साथ मेडिकल रिपोर्ट व एक्सरे की फोटो संलग्न करना अनिवार्य है। आरोग्य प्रमाण पत्र के नए नियम से हज पर जाने वालों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। एक ओर उन पर अतिरिक्त खर्च का बोझ बढ़ेगा तो दूरदराज इलाकों से आने वाले हज यात्रियों को इसके लिए परेशानी भी उठानी पड़ेगी।

Loading...

5 फरवरी तक जमा करें पहली किश्त 

हज कमेटी ने लॉटरी में चयनित होने वाले आजमीन के हज खर्च की पहली व दूसरी किश्त जमा करने की तिथियों की घोषणा कर दी है। 81 हजार रुपये की पहली किश्त 18 जनवरी से 5 फरवरी तक और 1,20,000 की दूसरी किश्त 20 मार्च तक जमा करनी है।

hajj

पहली किस्त जमा नहीं करने वाले आजमीन का हज कैंसिल कर दिया जाएगा। ऐसे आजमीन हज करने से महरूम हो जाएंगे। केंद्रीय हज कमेटी ने इस बाबत आदेश जारी कर दिया है।

एक साथ भर सकते दो किस्त

केंद्रीय हज कमेटी ने आजमीन के सामने ये आप्शन दिया है कि वो एक साथ दोनों किस्त जमा कर सकते हैं। आजमीन दो लाख एक हजार रुपये की किस्त पांच फरवरी तक एक साथ भी जमा कर सकते हैं। अलग-अलग जमा करने पर भी आजमीन को 18 मार्च तक दूसरी किस्त जमा करनी ही होगी। ऐसा नहीं करने पर उनका नाम सूची से हटा दिया जाएगा। इस तरह किस्त अदा नहीं करने वाले आजमीन हज से महरूम हो जाएंगे।

इस बार जमा होंगी तीन किस्तें

केंद्रीय हज कमेटी के आदेश के अनुसार इस साल आजमीन को तीन किस्तों में रकम जमा करनी होगी। दो किस्तों की रकम बता दी गई है। बाकी की एक किस्त की रकम तब बताई जाएगी जब केंद्रीय हज कमेटी एयर इंडिया या किसी अन्य कंपनी से आजमीनों को मक्का ले जाने का टेंडर कर लेगी।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें