Saturday, June 12, 2021

 

 

 

नोट बंदी: चंद्रबाबू का बदला रुख कहा, 40 दिन बाद भी हालात जस के तस, समस्या सुलझाने वाले नही है काबिल

- Advertisement -
- Advertisement -

naidu-kerc-621x414livemint

विजयवाड़ा | प्रधानमंत्री मोदी के नोट बंदी के फैसले का समर्थन करने वाले, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चन्द्र बाबु नायडू ने अपना रुख बदला है. चंद्रबाबू नायडू ने नोट बंदी से उत्पन समस्याओ का जिक्र करते हुए कहा की नोट बंदी से जो उम्मीदे थी वो पूरी नही हुई, यह फैसला उम्मीदों पर खरा नही उतरा. चंद्रबाबू का कहना है की नोट बंदी से जो परेशानी हो रही है वो जल्द दूर होने वाली नही है क्योकि इसको सुलझाने वाले काबिल नही है.

तेलगु देशम पार्टी के विधायको और सांसदों को संबोधित करते हुए चंद्रबाबू नायडू ने कहा की नोट बंदी से मुझे काफी उम्मीदे थी लेकिन ये उम्मीदों पर खरा नही उतरी. इससे लोगो को भारी परेशानी हो रही है और लगता है यह जल्द खत्म नही होगी. नोट बंदी लागू हुए 40 दिन हो चुके है लेकिन समस्या कम नही हो रही. अगर इसके बार में जल्द ही कुछ नही किया गया तो ये समस्याए लम्बे दिनों तक जारी रह सकती है.

चंद्रबाबू नायडू ने आगे कहा की नोट बंदी अब भी बड़ी जटिल और संवेदनशील समस्या है. मैं इसका हल ढूँढने के लिए रोजाना दो घंटे दिमाग खपता हूँ लेकिन कोई हल नही निकालता. मुझे फिलहाल इसका कोई हल नजर नही आ रहा. हमने अगस्त संकट ( पार्टी में हुए तख्तापलट ) को भी 30 दिन में हल कर लिए था लेकिन नोट बंदी हुए 40 दिन हो चुके है और इसका कोई हल नही निकला है.

मालूम हो की चंद्रबाबू नायडू , 13 सदस्य उस टीम का हिस्सा है जिसको नोट बंदी से उत्पन समस्याओ के हल ढूँढने के लिए बनाया गया था. चंद्रबाबू नायडू ने माना की बैंक नोट बंदी के लिए तैयार नही थे. गौरतलब है की चंद्रबाबू नायडू ने नोट बंदी के फैसले की तारीफ करते हुए , 12 नवम्बर को मोदी को पत्र लिखा था. लेकिन अब लगता है की चंद्रबाबू का इससे मोह भंग हो चूका है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles