Sunday, September 19, 2021

 

 

 

वीडियोकॉन लोन मामले में चंदा कोचर को पाया गया दोषी, आईसीआईसीआई वसूलेगा करोड़ों रुपए

- Advertisement -
- Advertisement -

वीडियोकॉन लोन मामले में ICICI बैंक की पूर्व प्रमुख चंदा कोचर को न्यायमूर्ति श्रीकृष्ण कमेटी द्वारा दोषी ठहराया गया है। जिसके बाद उन्हे पद से बर्खास्त कर दिया गया। जांच रिपोर्ट आने के बाद बैंक ने कहा कि चंदा कोचर से अप्रैल 2009 से मार्च 2018 के बीच दिए गए बोनस की वसूली की जाएगी।

कमेटी ने कहा कि इस लोन को देने में बैंक के आचार संहिता का उल्लंघन किया गया जिसमें हितों का टकराव का आचरण भी शामिल था, क्योंकि इस कर्ज का एक हिस्सा उनके पति दीपक द्वारा चलाई जा रही कंपनी को दिया गया, जिससे उन्हें कई तरह के वित्तीय फायदे प्राप्त हुए।

रिपोर्ट के सामने आने के बाद कोचर ने बुधवार शाम को जारी एक बयान में कहा, “मैं फैसले से बुरी तरह निराश, आहत और परेशान हूं।  मुझे रिपोर्ट की कॉपी तक नहीं दी गई। मैं फिर दोहराती हूं कि बैंक में कर्ज देने का कोई भी फैसला एकतरफा नहीं किया गया।”

chanda kochhar icici

उन्होंने आगे कहा, “आईसीआईसीआई स्थापित मजबूत प्रक्रियाओं और प्रणालियों वाला संस्थान है, जहां समिति आधारित सामूहिक निर्णय लेने की प्रक्रिया है तथा इसमें कई उच्च क्षमता वाले पेशेवर भी शामिल होते हैं।” उन्होंने कहा, “इसलिए संगठन का डिजायन और संरचना हितों के टकराव की संभावना को रोकता है।”

बता दें कि ICICI बैंक ने वीडियोकॉन को 3,250 करोड़ रुपए का लोन दिया था। इसमें हितों के टकराव का मामला सामने आया था। बता दें कि सीबीआई इस मामले में चंदा कोचर और उनके पति दीपक कोचर के खिलाफ पहले ही एफआईआर दर्ज कर चुकी है। जांच रिपोर्ट आने के बाद बैंक ने कहा कि चंदा कोचर से अप्रैल 2009 से मार्च 2018 के बीच दिए गए बोनस की वसूली की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles