देश भर में मजहबों की दीवारों से ऊपर रक्षाबंधन का त्यौहार सदियों से मनाया जाता आया है. इस साल भी रक्षाबंधन सभी समुदायों ने मिलकर बड़ी ख़ुशी के साथ मनाया. इस ख़ुशी से देश की प्रतिष्ठित जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी भी अछूती नहीं रही.

जामिया के कुलपति प्रोफेसर तलत अहमद से लेकर सुरक्षाकर्मियों तक को राखी बांध कर जामिया ने हिन्दू -मुस्लिम भाईचारे का संदेश दिया. वहीं इसी के साथ तलत ने अपनी ब्रह्मकुमारी बहनों से राखी बंधवाई. प्रोफेसर तलत अहमद ने कहा ‘मेरी कोई बहन नहीं है और मैं सुबह से ही इन लोगों का इंतज़ार कर रहा था. ये एक पवित्र संस्कृति है जो मज़हब से परे है. ये ऐसे ही चलते रहना चाहिए.’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस दौरान जामिया की छात्राओं ने देश की सीमाओं पर तैनात सुरक्षा बलों के लिए 500 राखियां भेजी. जामिया के जनसंपर्क अधिकारी अहमद अज़ीम ने कहा “गंगा-जमुनी तहजीब का एक बड़ा और पुराना मरकज़ है जामिया. जामिया में राखी बांधने की ये रिवायत काफी पहले से चली आ रही है.

उन्होंने कहा कि राखी का ये पर्व न सिर्फ भाई-बहन के प्यार को जताने का एक मौका है बल्कि इसके जरिये ये भी संदेश छात्रों ने दिया कि धर्म से ऊपर उठ कर एक दूसरे के लिए प्यार और भाईचारा बढ़े, एक दूसरे की लोग हिफाज़त करें..

Loading...