Thursday, January 27, 2022

असम NRC के समन्वयक प्रतीक हजेला का मध्‍य प्रदेश ट्रांसफर, सुप्रीम कोर्ट ने दिया आदेश

- Advertisement -

सुप्रीम कोर्ट ने नेशनल रजिस्‍टर ऑफ सिटिजंस (एनआरसी) के असम समन्‍वयक (असम को-ऑर्डिनेटर) प्रतीक हजेला को मध्यप्रदेश में प्रतिनियुक्ति पर भेजने का आदेश दिया है।

सुप्रीम कोर्ट के जरिए इसका आदेश जारी करने के लिए केंद्र सरकार को सात दिन का समय दिया गया है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस एसए बोबडे और जस्टिस नरीमन की पीठ ने यह आदेश जारी किया है।

गौरतलब है कि अगस्त महीने में एनआरसी की अंतिम सूची जारी की गई थी, इसमें 19 लाख लोगों को बाहर किया गया था। हजेला असम-मेघालय कैडर के 1995 बैच के आइएएस अधिकारी हैं। सुप्रीम कोर्ट ने ही उन्हें एनआरसी कोऑर्डिनेटर के पद पर नियुक्त किया था।

सुनवाई के दौरान अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने मुख्‍य न्‍यायाधीश रंजन गोगोई से हजेला के ट्रांसफर की वजह पूछी तो सीजेआई ने पलटकर पूछ लिया कि क्‍या कोई भी ट्रांसफर बिना वजह के होता है। हालांकि, उन्‍होंने ट्रांसफर का कारण बताने से इनकार कर दिया। इससे पहले मध्‍य प्रदेश के रहने वाले प्रतीक हजेला ने सुप्रीम कोर्ट में एक गोपनीय रिपोर्ट सौंपकर अपने ट्रांसफर की मांग की थी।

31 अगस्‍त को जारी एनआरसी की अंतिम सूची में कथित विसंगतियों  के कारण पिछले महीने दो बार हजेला पर मामले भी दर्ज कराए गए। कुछ संगठनों ने आरोप लगाया कि लोगों ने एनआरसी में अपना नाम दर्ज कराने के लिए सही दस्‍तावेज दिए थे। बावजूद इसके एनआरसी समन्‍वयक हजेला ने गोरिया, मोरिया और कई अन्‍य नाम वाले लोगों को जानबूझकर अंतिम सूची से बाहर कर दिया। उन्‍होंने आरोप लगाया कि प्रतीक हजेला ने जानबूझकर असम के मूल निवासियों  के साथ ज्‍यादती की है।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles