केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) टीम ने मानवाधिकार रक्षा के लिए काम करने वाले संगठन एमनेस्टी इंटरनेशनल के बेंगलुरु स्थित ऑफिस पर छापा मारा है। एमनेस्टी इंटरनेशनल ग्रुप पर नियमों का उल्लंघन कर विदेशी फंडिंग हासिल करने का आरोप है।

बता दें कि एमनेस्टी इंटरनेशनल एक गैर सरकारी संगठन (Non Government Organisation) है जो मानवाधिकार के लिए काम करता है। इससे पहले विदेशी मुद्रा नियमों का उल्लंघन करने पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने जांच के बाद एमनेस्टी इंटरनेशनल को कारण बताओ नोटिस जारी किया था।

अधिकारियों ने कहा कि वित्तीय जांच एजेंसी के एडजुडिकेटिंग अथॉरिटी ने मूल कंपनी एमनेस्टी इंटरनेशनल यूके को विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (फेमा) के तहत नियमों का उल्लंघन कर 51.72 करोड़ रुपये लेने पर नोटिस जारी किया।

वहीं विदेशी अंशदान (विनियमन) अधिनियम के कथित उल्लंघन पर ईडी ने पिछले साल एमनेस्टी इंडिया के बेंगलुरू स्थित कार्यालयों पर छापेमारी की थी। इसके बाद शुक्रवार को सीबीआई ने बड़े स्तर पर छापेमारी की।

छापेमारी के बाद एमनेस्टी ने कहा, केंद्रीय जांच ब्यूरो ने शुक्रवार को बेंगलुरु और नई दिल्ली में एमनेस्टी इंटरनेशनल ट्रस्ट के मामले में एमनेस्टी इंटरनेशनल इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के दफ्तरों पर छापेमारी की। भारत में मानवाधिकार उल्लंघन के खिलाफ एमनेस्टी इंडिया जब जब खड़ा हुआ और बोला तब तब उसका उत्पीड़न किया गया।

एमनेस्टी इंडिया भारतीय और अंतरराष्ट्रीय कानूनों का पूरी तरह पालन करता है। दुनिया की तरह भारत में भी हमारा काम मानवाधिकारों के लिए लड़ना है। हमारे मूल्य वहीं हैं जो भारतीय संविधान में बहुवाद, सहिष्णुता आदि के लिए निहित हैं।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन