लखनऊ। सीबीआई ने अवैध खनन के मामले में शनिवार को आईएएस बी. चंद्रकला के लखनऊ स्थित आवास समेत 12 जगहों पर छापे मारी की। सीबीआई टीम के 11 सदस्य आज सुबह विधानसभा एनेक्सी के पास सफायर अपार्टमेंट में उनके घर पहुंचे और क़रीब 2 घंटे जांच की।

जानकारी के अनुसार, उनके घर से कुछ कागज़ मिले हैं। साथ ही एक लॉकर, 2 अकउंट और 2 घर भी हैं। साथ ही छापे उत्तर प्रदेश के जालौन, हमीरपुर, लखनऊ समेत कई जिलों के साथ ही दिल्ली में भी मारे गए।

IAS बी. चंद्रकला पर ग़लत तरीके से खनन पट्टे देने का आरोप है। चंद्रकला के अलावा ठेकेदार रामावतार और करन सिंह के घर छापे मारे गए हैं। बता दें कि सोशल मीडिया पर चंद्रकला काफी मशहूर हैं। लोकप्रियता के मामले में चंद्रकला उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से कहीं आगे हैं। फेसबुक पर चंद्रकला के 8,636,348 से ज्यादा फॉलोअर्स हैं। वहीं, अखिलेश के फॉलोअर्स की संख्या 6,816,363 है।

साल 2017 में IAS बी. चंद्रकला अपनी संपत्ति का ब्योरा देने में डिफॉल्टर साबित हुई थीं। दरअसल, सिविल सेवा अधिकारियों को 2014 के लिए 15 जनवरी 2015 तक अपनी संपत्ति का रिकॉर्ड पेश करना था। लेकिन एक साल बीतने के बाद भी इन अधिकारियों ने अपनी संपत्ति का ब्योरा नहीं दिया था। चंदकला का नाम भी इसमें शामिल था।

केंद्र सरकार के सामान्य प्रशासन एवं प्रशिक्षण विभाग की जानकारी के मुताबिक चंद्रकला की संपत्ति 2011-12 में सिर्फ 10 लाख रुपये थी। 2013-14 में यह बढ़कर करीब 1 करोड़ रुपये हो गई। यानी एक साल में उनकी संपत्ति 90 फीसदी बढ़ी।

2011-12 में अपने गहने बेचकर और वेतन से चंद्रकला ने आंध्र प्रदेश के उप्पल में 10 लाख का फ्लैट खरीदा था। अब उनके पास लखनऊ के सरोजिनी नायडू मार्ग पर अपनी बेटी कीर्ति चंद्रकला के नाम से 55 लाख का फ्लैट है। हालांकि उन्होंने दावा किया था कि यह फ्लैट उनके सास-ससुर ने उन्हें गिफ्ट किया था।

इसके अलावा आन्ध्र प्रदेश के अनूपनगर में भी उन्होंने 30 लाख का एक मकान खरीदा है। इससे वह 1.50 लाख सालाना कमाई का दावा करती हैं।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन