नई दिल्ली | देश के सबसे बड़े मांस निर्यातको में से एक मोईन कुरैशी के खिलाफ सीबीआई ने हवाला केस प्राथमिकी दर्ज की है. इसी केस में सीबीआई ने अपने पूर्व चीफ एपी सिंह के खिलाफ भी मामला दर्ज किया है. इस मामले में सीबीआई ने देश के चार शहरो में छापेमारी की. इसके अलावा एपी सिंह के आवास पर भी छापेमारी की गयी. मोईन अली पर 200 करोड़ रूपए हवाला के जरिये बाहर विदेश में भेजने का आरोप है.

देश के सबसे बड़े मांस निर्यातको में से एक मोईन अली पर सीबीआई का शिकंजा कसता जा रहा है. सीबीआई ने प्रवर्तन निदेशालय के कहने पर मोईन अली के खिलाफ केस दर्ज किया. इससे पहले आयकर विभाग ने कोयला घोटाले में चल रही सुनवाई के दौरान अदालत को बताया की मोईन अली के पूर्व सीबीआई चीफ एपी सिंह के साथ रिश्ते थे. इसी आधार पर सीबीआई ने अपने ही पूर्व चीफ के खिलाफ केस दर्ज किया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

केस दर्ज होने के बाद सीबीआई ने मोईन अली के कई ठिकानों पर छापेमारी की. सीबीआई ने देश के चार शहरो, दिल्ली, गाजियाबाद, चेन्नई और हैदराबाद में छापेमारी की. इसके अलावा एपी सिंह के आवास की भी तलाशी ली गयी. मोईन के ऊपर आरोप है की उन्होंने हवाला के जरिये करीब 200 करोड़ रूपए दुबई, लन्दन और यूरोप के कई देशो में भेजे. मोईन कुरैशी अक्टूबर 2016 को एअरपोर्ट अधिकारियो को झांसा दे फरार होने में कामयाब रहा था.

प्रवर्तन निदेशालय ने आयकर विभाग से मिले दस्तावेजो के आधार पर मोईन के खिलाफ जांच शुरू की. प्रवर्तन निदेशालय विदेशी विनिमय प्रबंध कानून यानी फेमा के तहत इस मामले की जांच कर रहा था. इस जाँच में ईडी ने मोईन और उनकी कंपनियों को फेमा कानून के उलंघन का दोषी पाया. ईडी की रिपोर्ट के आधार पर मोईन के खिलाफ केस दर्ज किया गया.

मालूम हो उत्तर प्रदेश के रामपुर से अपने कारोबारों की शुरुआत करने वाले मोईन कुरैशी का नाम देश के सबसे बड़े मांस निर्यातको में लिया जाता है. उसके सीबीआई चीफ से लेकर बड़े बड़े नेताओं से सम्बन्ध थे. सुनंदा पुष्कर की मौत की जांच के दौरान इस बात का खुलासा हुआ की सुनंदा ने ब्लैकबेरी मैसेंजर के जरिये मोईन से बात की थी. इसके अलावा सुनंदा ने मोईन को अपने यहाँ डिनर पर भी बुलाया था.

Loading...