chema

22 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट से रिटायर हुए जस्टिस चेलमेश्वर ने खुद को असिस्टेंट कमिश्नर ऑफ पुलिस बताने वाले शख्स के खिलाफ बेटे को गिरफ्तार करने की धमकी देने के मामले में पुलिस के पास शिकायत दर्ज कराई है।

चेलमेश्वर ने बताया कि शिव कुमार ने उनके बड़े बेटे जस्ती रामगोपाल को मंगलवार को फोन किया था और दावा करते हुए कहा कि जस्ती के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी हुआ है। कॉलर ने फोन पर यह भी कहा कि उनके बेटे को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस टीम उनके निवास पहुंच रही है। फोन उनकी बहू ने उठाया था। पहले तो कॉलर ने उनकी बहू से कहा कि वह किसी विनय कृष्णा से बात करना चाहता है, लेकिन उनकी बहू ने कहा कि ऐसा कोई वहां नहीं रहता। बहू ने कहा कि वह उनके पति जस्ती रामगोपाल के छोटे भाई जस्ती लक्ष्मीनारायण को फोन कर लें।

Loading...

supreme court

इस बारे में जब चेलमेश्वर को पता चला तो उन्होंने वरिष्ठ पुलिस अफसर को फोन किया और उस कॉलर की जानकारी पता करने को कहा। जिसके बाद मधापुर के कुछ पुलिसकर्मी उनके बेटे के नाम और उनके घर के पते की जांच करने आए। बाद में पता चला कि जिसने फोन किया है वह मधापुर नहीं बल्कि तमिलनाडु का पुलिस अफसर है। लेकिन खुद को मधापुर का एसीपी बता रहा था। चेलमेश्वर ने बताया कि अरेस्ट वारंट तमिलनाडु के विनय कृष्णा के खिलाफ जारी हुआ था लेकिन उसने गलत पता दे दिया था।

रिटायर्ड जज ने आगे कहा कि हैदराबाद पुलिस ने उस अफसर को फोन किया और उसकी गलती बताई। उसे उसकी गलती का अहसास हो गया है। अब वह किसी भी फोन का जवाब नहीं दे रहा है। हमने उसके खिलाफ अनावश्यक उत्पीड़न करने के कारण केस दर्ज कराया है।

मधापुर के डिप्टी कमिश्नर ऑफ पुलिस विश्वा प्रसाद ने कहा कि पुलिस को जस्ती लक्ष्मीनारायण की ओर से एक शिकायत मिली है और इसे संबंधित पुलिस स्टेशन के पास भेज दिया जाएगा।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें