बिहार: चमकी बुखार से 100 से ज्यादा बच्चों की मौ’त, स्वास्थ्य मंत्रियों के खिलाफ मुकदमा

5:51 pm Published by:-Hindi News

बिहार में चमकी बुखार से होने वाली मौत का तांडव कायम है। अब तक इस बीमारी से 100 से अधिक बच्चों की मौत हो चुकी है। रविवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्द्धन, केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे मुजफ्फरपुर स्थित एसकेएमसीएच पहुंचे और हालात का जायजा लिया। लेकिन स्थिति दिन व दिन बेकाबू होती जा रही है और बीमारी पर अभी तक काबू नहीं पाया जा सका।

ऐसे में सामाजिक कार्यकर्ता तमन्ना हाशमी ने मुजफ्फरपुर सीजेएम कोर्ट में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन और बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। तमन्ना हाशमी की ओर से दायर की गई याचिका पर अदालत 24 जून को सुनवाई करेगी।

याचिका में यह कहा गया है कि एईएस के प्रकोप को नियंत्रित करने के लिए हर्षवर्धन और मंगल पांडे अपने कर्तव्यों का निर्वहन करने में विफल रहे। दोनों ने प्रभावित क्षेत्रों में लोगों को जागरूक करने और संवेदनशील बनाने के लिए कुछ भी नहीं किया जबकि एईएस की वजह से कई वर्षों से यहां के बच्चे मर रहे हैं।

हाशमी ने कहा कि उन्होंने हर्षवर्धन और मंगल पांडे के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (IPC) की धारा 323, 308 और 504 के तहत मामला दर्ज करवाया है। उन्होंने कहा, “अनदेखी और तत्काल उपचार के लिए जरूरी आधारभूत सुविधाओं की कमी की वजह से काफी संख्या में बच्चों की मौत हुई है।”

बता दें कि मुजफ्फरपुर में पीड़ित बच्चों को लेकर डॉ. हर्षवर्धन ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की, जिसमें अश्विनी कुमार सोते नजर आए लेकिन सोमवार को उन्होंने मीडिया को सफाई देते हुए कहा कि वह सो नहीं रहे थे बल्कि चिंतन कर रहे थे।

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें