Monday, January 17, 2022

यज़ीद का समर्थक केवल आतंकवादी ही हो सकता है: मौलाना कल्बे जावद

- Advertisement -

भारत में जाकिर नाइक का विरोध बड़ता ही जा रहा हैं. सरकार ने भी जाकिर नाइक के खिलाफ कारवाई शुरू कर दी हैं. सूफी सुन्नी संगठन रजा अकादमी ने जाकिर नाइक के खिलाफ प्रतिबन्ध की मांग की हैं और कई शहरों में प्रदर्शन भी किया हैं.

अब जाकिर नाइक के विरोध में शिया मुस्लिम समुदाय भी सामने आ गया हैं. भारत में शिया मुसलमानों के वरिष्ठ धर्मगुरू और इमामे जुमा लखनऊ मौलाना सय्यद कल्बे जवाद नक़वी ने जाकिर नाइक के बारें में कहा कि जो व्यक्ति दुनिया के सबसे बड़े आतंकवादी यज़ीद का प्रशंसक व समर्थक हो वह आतंकवादी के अलावा कुछ नहीं हो सकता.

उन्होंने आगे कहा कि दुनिया में जहाँ जहाँ भी आज आतंकवाद है वह पैग़मबरे इस्लाम (स) और उनके अहलेबैत (अ) अर्थात परिजनों की शिक्षा से दूरी का परिणाम है. आज पूरी दुनिया में आतंकवाद का एक बड़ा नेटवर्क काम कर रहा है जिसमे स्कॉलर्स बनाए जाते हैं, धर्मगुरू बनाए जाते हैं और फिर ये लोग इस्लाम के नाम पर युवाओं को गुमराह करते हैं और कट्टरपंता को जन्म देते हैं.

उन्होंने ज़ाकिर नाइक उसी नेटवर्क का हिस्सा बताते हुए कहा कि ज़ाकिर नाइक ने अपने भाषणों में आतंकवादी गुट तालेबान के पूर्व प्रमुख मुल्ला उमर और अल-क़ाएदा के पूर्व प्रमुख ओसामा बिन लादेन की कई बार प्रशंसा की है. उन्होंने आगे कहा कि ज़ाकिर नाइक अपने चैनल  पर  खुले आम तालेबान और अल-क़ाएदा के दृष्टिकोण के अंतर्गत युवाओं को दूसरे धर्मों के ख़िलाफ़ भड़काते रहते हैं. उन्होंने कहा कि ज़ाकिर नाइक के भाषणों की सीड़ी और किताबें भारतीय बज़ार में मौजूद हैं.

मौलाना ने सरकार से मांग करते हुए कहा कि ऐसी आइडियोलॉजी और ऐसी किताबें हमारे और युवाओं और विशेषकर देश के लिए बहुत ही ख़तरनाक हैं और ऐसे लोगों पर जल्द से जल्द प्रतिबंध लगना चाहिए. उन्होंने आगे कहा के जब तक वहाबी मुफ़्ती अपने फ़तवे वापस नहीं लेंगे तबतक दुनिया से आतंकवाद का ख़ात्मा नहीं होगा. साथ ही जिस दिन सऊदी अरब और अन्य देशों के वहाबी मुफ़्तियों पर प्रतिबंध लगा दिया जाएगा उसी दिन दुनिया से एक बहुत बड़ा आतंकवाद समाप्त हो जाएगा.

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles