yoge

बुलंदशहर: बुलंदशहर हिंसा और पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या के मामले में मुख्य आरोपी योगेश ने खुद को बेकसूर बताते हुए अपना एक वीडियो जारी किया है। बता दें कि एफआईआर दर्ज होने के बाद बजरंग दल का संयोजक योगेश राज पहली बार सामने आया है।

योगेश ने अपने इस वीडियो में कहा, ‘जैसा कि आप बुलंदशहर स्याना में गोकशी प्रकरण को आप देख रहे होंगे। प्रकरण में पुलिस मुझे ऐसे पेश कर रही है जैसे मेरी बहुत बड़ा आपराधिक प्रवृति की रही हो। आप सब लोगों को यह बताना चाहता हूं कि उस दिन दो घटना हुई पहली स्याना के नजदीक गांव में हुई गोकशी की जिसकी सूचना देने के लिए हम स्याना थाने में अपना मुकदमा लिखाने गए और वहां बैठे ही थे कि हमें पता चला कि उक्त स्थल पर ग्रामीणों ने पथराव किया है जिसमें गोलीबारी हुई और इसमें एक युवक तथा एक पुलिसकर्मी को गोली लगी। दूसरी घटना से मेरा कोई लेना-देना नहीं है।’

गेश राज का कहना है कि हमारी मांग पूर्ण कर पुलिस केस लिख रही थी तो बजरंग दल कोई आंदोलन क्यों करता। योगेश राज ने कहा कि मैं दूसरी घटना के उक्त स्थल में मौजूद नहीं था। मेरा दूसरी घटनाओं से कोई लेना देना नहीं है। मुझे ईश्वर न्याय दिलाएंगे मुझे पूर्ण विश्वास है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इसी बीच बुइंस्पेक्टर सुबोध और सुमित की हत्या को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। दोनों को एक ही बोर के हथियार से गोली मारी गई, पोस्टर्माटम रिपोर्ट से इस बात का खुलासा हुआ लेकिन अधिकारी इसकी पुष्टि नहीं कर रहे हैं।

सुमित के पोस्टमार्टम में बरामद गोली भी 0.32 बोर की बताई गई है। वहीं इंस्पेक्टर स्याना सुबोध सिंह को भी 0.32 बोर की गोली सिर में मारी गई। ऐसे में माना जा रहा है कि दोनों को एक ही हथियार से गोली मारी गई। सुमित के शरीर से बरामद गोली को अब स्याना पुलिस फोरेंसिक जांच के लिए गाजियाबाद फोरेंसिक लैब भेजेगी। पुलिस उस हथियार को खोजने में लगी है, जिससे दोनों को गोली लगी।

Loading...