Sunday, June 20, 2021

 

 

 

भारत बंद: बंगाल और ओडिशा में रेल सेवा ठप्प, केरल में नहीं खुलीं दुकानें और दफ्तर

- Advertisement -
- Advertisement -

केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ गुरुवार को देश के 10 केंद्रीय श्रमिक संगठनों द्वारा बुलाये गए भारत बंद का असर देश भर में दिखाई दिया। श्रमिक संगठनों के एक प्रतिनिधि ने कहा कि अभी तक तमिलनाडु और केरल सबसे अधिक प्रभावित हैं।

इस एक दिन की हड़ताल में बैंक (एसबीआई को छोड़कर), रोडवेज, रेलवे, बीएसएनएल, जीवन बीमा निगम, डाक, पेयजल, बिजली विभाग के कर्मचारियों समेत आशा वर्कर्स, आँगनबाड़ी वर्कर्स, मिड-डे मील और औद्योगिक क्षेत्रों के संगठन भी शामिल हैं।

केरल में राज्य सरकार ने भी इस बंद का समर्थन किया है। सभी सरकारी दफ्तर बंद हैं औरर सरकारीर गाड़ियों की सेवा भी बाधित है। बिजनेस प्रतिष्ठानों और दुकानों ने भी शटर गिरा रखा है। पश्चिम बंगाल में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी-लेनिनवादी) लिबरेशन, सीपीआई (एम) और कांग्रेस ने जादवपुर में ब्लॉक रेलवे ट्रैक को ब्लॉक किया।

ओडिशा में भी निर्मना श्रमिक महासंघ, ऑल इंडिया सेंट्रल काउंसिल ऑफ ट्रेड यूनियन और ऑल ओडिशा पेट्रोल और डीजल पंप वर्कर्स यूनियन ने जमकर प्रदर्शन किया। इसके अलावा केरल में इस हड़ताल की वजह से बस सेवा खासी प्रभावित हुई है। वहीं, कोच्चि में भी दुकानें बंद हैं। यहां राज्य सरकार भी इस बंद का समर्थन कर रही है। दुकानों और व्यापारों के अलावा सभी सरकारी दफ्तरों पर ताला लगा है।

महाराष्ट्र के पुणे में ट्रेड यूनियन के लोग केंद्र सरकार के नए श्रम कानूनों का विरोध करते नजर आये। सरकारी महकमों का निजीकरण, कर्मचारियों की पेंशन योजना, ट्रेड यूनियन के अधिकारों के हनन समेत कई मांगों को लेकर लोगों ने सड़कों पर रैली निकाली।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles