Saturday, July 31, 2021

 

 

 

बीजेपी नेता पर आरोप – प्रवासी मजदूरों से मांगा तिगुना किराया, नहीं देने पर की पिटाई

- Advertisement -

गुजरात के सूरत में स्थानीय बीजेपी नेता पर कथित तौर पर मजदूरों को ट्रेन के टिकट तिगुने दाम पर बैचने और आपत्ति उठाने पर प्रवासी मजदूरों को पीटने का आरोप है।

- Advertisement -

भास्कर के अनुसार, गाेडादरा के लक्ष्मी नारायण सोसाइटी में रहने वाले रंजीत ने अपने सगे-संबंधियों और परिचितों को गांव भेजने के लिए राजेश वर्मा के पास रेलवे के टिकट के लिए रुपए जमा किया था। आरोपी राजेश वर्मा ने न तो टिकट दिया न ही रुपए वापस लौटाया। रंजीत रुपए वापस मांगने गया तो डंडे से पीट दिया और मकान मालिक पर भी दबाव डालने लगा। मकान मालिक कामेश्वर राणा ने गुरुवार को रंजीत को घर से निकाल दिया। रंजीत पत्नी और तीन बच्चों के साथ रातभर सड़क पर पड़ा रहा।  रंजीत ने घटना का वीडियो बनाकर वायरल किया था। इससे आरोपी राजेश वर्मा की पोल खुल गई थी। दूसरे दिन एक समाजसेवी ने रंजीत की मदद की और दूसरी जगह किराय का मकान दिलवाया।

रंजीत झारखंड का मूल निवासी है। लॉकडाउन में जब ट्रेन चलने लगी तो रंजीत और उसके सगे-संबंधी गांव जाने काे तैयार हो गए। रंजीत ने 21 लोगों की लिस्ट बनाई और 18 हजार रुपए इकट्‌ठा किया। रंजीत 4 मई को रुपए लेकर राजेश वर्मा को देने जा रहा था, तभी मकान मालिक कामेश्वर राणा ने उसे बीच में रोक लिया और कहने लगा कि वह सबको टिकट दिलवा देगा। इसके बाद कामेश्वर ने रंजीत से लिस्ट और पैसे ले लिया। दो दिन तक टिकट नहीं मिला तो रंजीत पूछने के लिए राजेश वर्मा के पास गया था।

राजेश वर्मा ने रंजीत को गाली देकर भगा दिया। कामेश्वर राणा से पूछा तो उसने कहा कि अभी तक टिकट नहीं आया है। रंजीत ने जांच की तो पता चला कि कामेश्वर राणा ने उसके नाम का पूरा टिकट ब्लैक में बेच दिया है। इसके बाद रंजीत ने राजेश वर्मा के ऑफिस में  टिकट के नाम पर चल रहे गोरखधंधे की वीडियो बनाकर वायरल कर दिया। वीडियो से परेशान राजेश वर्मा ने रंजीत को पीटा और कामरेश्वर राणा ने उसे घर से बाहर निकाल दिया। लिंबायत थाने में शिकायत दर्ज होने के बाद पुलिस ने रंजीत को पूरा पैसा वापस दिलवाया और आरोपी राजेश वर्मा, कामेश्वर राणा के खिलाफ कार्रवाई की।

हालांकि सूरत में सत्तारूढ़ भाजपा के प्रमुख ने इस बात से इनकार किया है कि राजेश वर्मा का बीजेपी से संबंध है।  और उनको कोई ऐसी जिम्मेदारी नहीं दी गई थी। सूरत में एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी एम. परमार ने कहा कि राजेश वर्मा के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles