दिल्ली भाजपा प्रदेशाध्यक्ष मनोज तिवारी पर हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाली वीडियो पोस्ट करने की याचिका पर पंचकूला जिला अदालत ने सुनवाई करते हुए पुलिस को जांच के आदेश दिए हैं। पुलिस को आदेश देते हुए अदालत ने कहा कि इस मामले की जांच 5 जनवरी तक पूरी कर स्टेटस रिपोर्ट कोर्ट में फाइल की जाए।

हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कोषाध्यक्ष तरुण भंडारी ने भाजपा के दिल्ली इकाई के प्रदेशाध्यक्ष मनोज तिवारी के खिलाफ फेसबुक पर हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाली वीडियो अपलोड करने पर जिला अदालत में याचिका दायर की थी।

Loading...

गुरुवार को जिला अदालत ने सुनवाई करते हुए कहा कि इसमें क्या सच्चाई है, इसकी सही तरीके से जांच होनी चाहिए।जज तरुण वर्मा ने पुलिस को सीआरपीसी की धारा 202 के तहत जांच के आदेश दिए हैं। साथ ही कोर्ट ने पुलिस को जांच रिपोर्ट पेश करने की तारीख भी दे दी है।

bjp

कांग्रेस नेता भंडारी ने कहा कि, तिवारी द्वारा दिखाए गए कार्टून में भगवान शिव को राहुल गांधी भाजपा का एजेंट बता रहे हैं। भंडारी ने कहा, छत्तीसगढ़ चुनाव के लिए प्रचार के दौरान मनोज तिवारी ने अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर भगवान शिव जो दर्शाते हुए एक वीडियो जारी किया था। जो उन्होंने 20 नवंबर को देखा।

उन्होंने कहा, बीजेपी नेता हमेशा से वोट बैंक के लिए हिंदू भावनाओं की राजनीति करते रहे हैं। कोर्ट द्वारा पुलिस को जांच करने का आदेश देना स्वागत योग्य है।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें