tipu sultan bl.lowresl 620x400

कोलकाता | मोदी सरकार के एक मंत्री द्वारा टीपू सुल्तान को बलात्कारी बताने वाले बयान से विवाद खड़ा हो गया है. टीपू सुल्तान के वंशजो ने मंत्री के बयान पर आपत्ति जताते हुए उनके खिलाफ क़ानूनी कार्यवाही करने का फैसला किया है. उनका कहना है की यह टीपू सुल्तान जैसे आदरणीय शासक की छवि ख़राब करने की कोशिश की जा रही है. मालूम हो की टीपू सुल्तान 18वी सदी के शासक रहे है.

दरअसल केन्द्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े ने शुक्रवार को टीपू सुल्तान पर एक ट्वीट कर हंगामा खड़ा कर दिया. हेगड़े ने ट्वीट कर लिखा की टीपू सुल्तान जन बलात्कारी और क्रूर हत्यारा था. इसके अलावा हेगड़े ने टीपू सुल्तान की जयंती पर होने वाले कार्यक्रम में भी खुद को निमंत्रित नही करने का भी आग्रह किया. इसके लिए उन्होंने कर्नाटक के मुख्यमंत्री और उत्तर कन्नड़ डिप्टी कमिश्नर को एक पत्र लिखा.

इस पत्र में उन्होंने लिखा की एक बलात्कारी, सनकी और हत्यारे के शर्मनाक इवेंट में मुझे आमंत्रित न किया जाए. इस तरह एक मंत्री का टीपू का बलात्कारी बताना टीपू के वंशजो को रास नही आया. इसलिए उन्होंने हेगड़े के खिलाफ क़ानूनी कर्यवाही करने का फैसला किया है. टीपू सुल्तान के वंशजो का कहना है की हेगड़े का बयान काफी दुःख पहुँचाने वाला है. हेगड़े के बयान पर टीपू सुल्तान की छठी पीढ़ी से ताल्लुक रखने वाले बख्तियार अली ने प्रतिक्रिया दी.

उन्होंने कहा की मैं इसके लिए अपने परिवार के सभी सदस्यों के साथ एक बैठक करूँगा और हेगड़े के खिलाफ क़ानूनी कार्यवाही करेंगे. उनके इस बयान से मैं बेहद हैरान हूँ, टीपू सुलतान एक बहुत ही आदरणीय शासक थे. मुझे नही पता की हेगड़े ने किस आधार पर यह आरोप लगाया. टीपू सुल्तान के अन्य वंशज शाहिद आलम ने कहा हेगड़े को बिना किसी शर्त के टीपू सुल्तान पर की गई अपनी टिप्पणी पर मांफी मांगनी चाहिए.

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano