कोझिकोड | केरल में पिछले कुछ महीनो से चल रही राजनितिक हिंसा अपने चरम पर पहुँच गयी है. सत्ता धारी माकपा और बीजेपी के बीच चल रही हिंसा अब बम विस्फोट के रूप में बढ़ रही है. गुरुवार को आरएसएस के दफ्तर के पास हुए बम विस्फोट में चार बीजेपी कार्यकर्त्ता घायल हो गए. आरएसएस का आरोप है की यह विस्फोट माकपा के लोगो ने करवाया है.

उधर जानकार इस विस्फोट को आरएसएस के सह प्रचार प्रमुख कुंदन चंद्रावत के उस बयान के साथ जोड़कर देख रहे है जिसमे उन्होंने केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन का सर काटकर लाने वालो को इनाम देने की घोषणा की थी. जानकारों का मानना है की कुंदन के इसी बयान की प्रतिक्रिया में यह विस्फोट किया गया. फ़िलहाल पुलिस ने पुरे इलाके की घेराबंदी की हुई है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

गुरुवार को कोझिकोड के नदापुरम इलाके में स्थित आरएसएस के दफ्तर के पास देसी बम से हमला किया गया. हालाँकि विस्फोट ज्यादा शक्तिशाली नही था लेकिन चार बीजेपी कार्यकर्त्ता इस हमले की चपेट में आ गए. सभी घायलों को नजदीक के अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है. फ़िलहाल पुलिस हमला करने वालो की तलाश कर रही है. खबर लिखे जाने तक इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नही हुई थी.

मालूम हो की आरएसएस प्रचार प्रमुख कुंदन चंद्रावत ने गुरुवार को ही मुख्यमंत्री पी विजयन का सर काटकर लाने वालो को इनाम देने की घोषणा की थी. कुंदन ने लोगो को संबोधित करते हुए कहा था की अभी तक आरएसएस से जुड़े 300 लोगो की हत्या की जा चुकी है लेकिन मुख्यमंत्री ने इस पर अपनी आँखे मूंद ली है. चंद्रावत की टिप्पणी से केरल की राजनीती में भूचाल आ गया.

आरएसएस ने चंद्रावत के बयान से खुद को अलग करते हुए कहा की हमारा संगठन किसी भी तरह की हिंसा की पैरवी नही करता. जबकि माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा की आरएसएस प्रचार प्रमुख का यह बयान आतंकी संगठन के रूप में आरएसएस का असली रंग दिखाता है.

Loading...