कश्मीर के बांदीपोरा में पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष शेख वसीम बारी और उनके भाई व पिता की आतंकियों ने बड़ी बेरहमी से हत्या कर दी। उनके साथ उनके भाई उमर सुल्तान और पिता बशीर शेख को भी गोलियों से भूनकर मौ’त के घाट उतार दिया। इस हत्याकांड के पीछे लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) को जिम्मेदार बताया जा रहा है।

मामले में लापरवाही के आरोप में सुरक्षा में तैनात दस पुलिसकर्मियों को निलंबित कर गिरफ्तार कर लिया गया है और उनसे पूछताछ जारी है। कश्मीर पुलिस प्रमुख विजय कुमार ने कहा कि हमने, सेना और सीआरपीएफ अधिकारियों की उपस्थिति में सीसीटीवी फुटेज की जांच की है। लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों ने हमले को अंजाम दिया है। इसमें एक स्थानीय है जिसकी पहचान आबिद के रूप में हुई है और दूसरा पाकिस्तानी है।

उन्होने बताया, स्थानीय आतंकी आबिद ने पिस्तौल के साथ एक करीबी रेंज से तीनों पर गोलीबारी की जबकि दूसरा उसे गाइड कर रहा था। तीनों को सिर में गोलियां लगी और अस्पताल ले जाते समय तीनों ने दम तोड़ दिया। हम दोनों आतंकियों का जल्द ही सफाया कर देंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीजेपी नेता वसीम की हत्या के बारे में फोन पर जानकारी ली। उन्होंने वसीम के परिवार के प्रति सांत्वना भी व्यक्त की है। केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने यह जानकारी दी। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने ट्वीट कर कहा, हमने बांदीपोरा में शेख वसीम बारी, उनके पिता और भाई को खो दिया। ये पार्टी के लिए बड़ी क्षति है। मेरी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं। मैं सुनिश्चित करता हूं कि उनका बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा।

वरिष्ठ बीजेपी नेता राम माधव ने वसीम के परिवार के प्रति शोक संवेदना जाहिर की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, युवा बीजेपी नेता वासीम बारी और उनके भाई की बांदीपोरा में हत्या से चकित और दुखी हूं। वरिष्ठ नेता बारी के पिता घायल हैं। सुरक्षा कमांडो के बाद भी यह घटना घटी। परिवार के प्रति शोक संवेदना।

वहीं डीजीपी दिलबाग सिंह ने कहा कि यह “एक हाइब्रिड ग्रुप की करतूत” है। सिंह का मानना है कि हत्या की योजना बनाई गई थी और हमला बांदीपोरा पुलिस स्टेशन की निकटता को ध्यान में रखते हुए किया गया था। जहां यह घटना हुई है, वहां से पुलिस स्टेशन 50 फीट की दूरी पर है।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन