फतेहाबाद | देश आजाद होने के बाद हमारे मुल्क को राजशाही से मुक्ति मिल गयी. कहा गया की अब देश में जनता का राज होगा. जनता अपने सेवक को खुद चुनेगी. लेकिन शायद उस समय यह व्यवस्था लागु करने वालो को यह मालूम नही था की यही सेवक राजा भी बन सकता है. सत्ता के नशे में चूर होकर जनता को प्रजा समझ उसका तिरस्कार भी कर सकता है. फिलहाल की स्थिति देखे तो यह सब देश में हो भी रहा है.

ऐसे कई उदहारण रोजाना सामने आते है जब सत्ता के नशे में चूर ये नेता इंसानियत को शर्मसार कर देते है. सत्ता मिलते ही अपने आप को वीआईपी समझने वाले ये लोग सड़क पर चलते हुए आम जनता को कीड़े मकोड़े समझते है. इनके आगे किसी की जान की कोई कीमत नही है. एक ऐसी ही घटना हरियाणा के फतेहाबाद में हुई जहाँ एक नेता की राजशाही के आगे एक जिन्दगी हार गयी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार फतेहाबाद के प्रधान और बीजेपी नेता दर्शन नागपाल की सत्ता की हनक ने एक शख्स को मौत के घाट उतार दिया. दरअसल सड़क पर चलते हुए दर्शन नागपाल की गाड़ी जब लालबत्ती चौक पहुंची तो पास से गुजर रही एक एम्बुलेंस की हलकी से टक्कर उनकी गाडी से हो गयी. जिससे बीजेपी नेता आग बबूला हो गए. उन्होंने एम्बुलेंस को बीच रास्ते में रोककर खरी खोटी सुनानी शुरू कर दी.

जबकि इस एम्बुलेंस में एक मरीज बेहद ही नाजुक हालत में अस्पताल ले जाया जा रहा था. मरीज की नाजुक हालत की वजह से ही एम्बुलेंस का ड्राईवर तेजी से गाडी चला रहा था. इसी वजह से दर्शन की गाडी से उनकी हलकी टक्कर हो गयी. जब बीजेपी नेता ने एम्बुलेंस को रोका तो ड्राईवर ने हाथ जोड़कर उन्हें वहां से जाने की विनती की. लेकिन बीजेपी नेता का दिल नही पसीजा और मरीज ने दम तोड़ दिया.

Loading...