अटल बिहारी बाजपेयी सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे जाने माने पत्रकार अरुण शौरी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर गंभीर आरोप लगाया हैं. उन्होंने कहा कि व्ह सोशल मीडिया पर गाली गलौज करने वाले ट्रॉल को प्रोत्साहित करते हैं. उन्होंने इतना तक कहा, मोदी न केवल ट्विटर पर ट्रॉल को फॉलो करते हैं बल्कि अपने आवास पर उनसे मिलकर उनके साथ फोटो भी खिंचवाते हैं.

“द वायर” को दिए इंटरव्यू में स्वाति चतुर्वेदी ने मोदी द्वारा गालीगलौज करने वाले ट्विटर हैंडल को फॉलो करने से जुड़ा सवाल पूछा था. जिस पर उन्होंने कहा कि “हाँ, ऐसे लोगों को फॉलो करके मोदी संदेश देते हैं कि मैं तुम्हें फॉलो कर रहा हूं. आप जब ऐसे लोगों को फॉलो करते हैं तो आप उन्हें ये संदेश देकर प्रेरित कर रहे होते हैं कि “भैया, मैं देख रहा हूं कितनी गालियां डाल रहे हो.”

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने आगे कहा कि बाद मैं मैने सुना कि उन्होंने इन लोगों को मुलाकात भी की थी. आप ऐसे लोगों को प्रधानमंत्री आवास में बुला रहे हैं. उसके बाद इन प्रेरित लोगों ने सोशल मीडिया पर मोदी के साथ अपनी तस्वीर डाली. इनमें से एक को बीजेपी के आईटी सेल का प्रमुख बना दिया गया. इससे साफ है कि ये सरकार का ऑपरेशन है, ये पार्टी का ऑपरेशन है. और ये देश में उठने वाली आवाजों को चुप कराने के लिए इस्तेमाल किए जा रहे औजारों में एक है.

शौरी ने कहा कि गालीगलौज ऐसे एक औजार है, चीजों को पहुंच से दूर कर देना भी एक तरीका है जैसे राजस्थान में राजस्थान पत्रिका को सरकारी विज्ञापन दिए जाने बंद कर दिए गए क्योंकि उन्होंने केंद्र सरकार के प्रतिकूल कुछ प्रकाशित कर दिया था.”

Loading...