नई दिल्ली | दिल्ली के रामजस कॉलेज में छात्र संगठन ABVP और AISA के बीच हुई झड़प ने अब राजनितिक रंग लेना शुरू कर दिया है. खासकर शहीद कर्नल की बेटी गुरमेहर कौर की ABVP के खिलाफ लिखी गयी पोस्ट से इस मामले में नया मोड़ आ गया है. जहाँ बीजेपी ने पहले गुरमेहर की आलोचना की वही अब उनका रुख थोडा बदला बदला नजर आ रहा है.

केन्द्रीय राज्य मंत्री किरण रिजीजू ने 26 फरवरी को ट्वीट कर गुरमेहर की आलोचना करते हुए लिखा थी की न जाने कौन इस लड़की का दिमाग प्रदूषित कर रहा है? किरण रिजीजू के अलावा कई और बीजेपी नेताओ ने गुरमेहर कौर के अभियान पर सवाल खड़े किये थे. ABVP और बीजेपी समर्थको ने सोशल मीडिया पर गुरमेहर को ट्रोल करना शुरू कर दिया, यही नही उनको रेप तक की धमकी दे डाली.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

अब इस मामले में अपना रुख बदलते हुए बीजेपी नेता और केन्द्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने एक प्रेस वार्ता में कहा की इस देश में हर किसी को अभिव्यक्ति की आजादी है. अगर कोई शहीद की बेटी अपने विचार रख रही है तो उनको इसका पूरा हक़. अपने विचार रखने पर उनको ट्रोल किये जाना गलत है. हालाँकि रवि शंकर प्रसाद ने यह भी कहा की बोलने की आजादी है लेकिन यह कहना की कश्मीर और बस्तर को आजाद होना चाहिए , गलत है.

उधर किरण रिजीजू ने भी अपने रुख में बदलाव करते हुए कहा की जब मैं ट्वीट किया तो मुझे यह भी पता था की गुरमेहर को हत्या एवं रेप की धमकी मिली है. मैं उस समय मणिपुर में चुनाव प्रचार करने में व्यस्त था. यह काफी दुर्भाग्यपूर्ण है और हर किसी को इस देश में अभिय्वाक्ति की आजादी है. इसलिए मैं गुरमेहर की अभिव्यक्ति की आजादी का पूरा समर्थन करता हूँ.

गौरतलब है की गुरमेहर ने रामजस कॉलेज की घटना के बाद अपने फेसबुक प्रोफाइल पर एक ऐसी तस्वीर लगाईं जिसमे गुरमेहर एक पेपर लिए हुए खडी थी जिस पर लिखा था की मैं डीयु की छात्रा हूँ और मुझे ABVP से डर नही लगता क्योकि पुरे देश के छात्र मेरे साथ है. उन्होंने इस तस्वीर में हैशटैग StudentAgainstABVP का भी इस्तेमाल किया था. इसके बाद देश भर में काफी छात्र छात्राओं ने इस तरह की तस्वीर अपने प्रोफाइल पिक्चर के तौर पर लगाई थी.

Loading...