bharat mata goes tribal 620x400

bharat mata goes tribal 620x400

नई दिल्ली । हाल फ़िलहाल में राष्ट्रवाद और देशभक्ति को लेकर काफ़ी चर्चाए हुई है। हिंदू वादी संगठनो और भाजपा ने वंदेमातरम से लेकर भारत माता की तस्वीर तक का मुद्दा उठाकर लोगों के राष्ट्रवाद पर सवालिया निशान लगाने का काम किया। ख़ासकर मुस्लिम समुदाय की देशभक्ति को जाँचने के लिए इन मुद्दों को ख़ूब उछाला गया। पीछले साल भारत माता की तस्वीर को लेकर ख़ूब विवाद हुआ। मुस्लिम समुदाय ने इस तस्वीर को मानने से इंकार कर दिया।

उनका तर्क था कि चूँकि भारत माता की तस्वीर को एक देवी के रूप में दिखाया गया है और इस्लाम में मूर्ति पूजा को वर्जित माना गया है इसलिए हम इसे नही मान सकते। वैसे भी आज़ादी के समय से भारत माता की तस्वीर का ज़िक्र होते ही एक ऐसी देवी का चित्रण सामने आता है जो शेर पर बैठी हुई है और एक हाथ में त्रिशूल और एक हाथ तिरंगा लिए हुए है। देश के कई हिस्सों में इसी तस्वीर के आधार पर भारत माता के मंदिर भी बनाए गए।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

लेकिन उस समय इस मुद्दे को पूरे ज़ोर शोर से उठाने वाली भाजपा के लिए शायद अब भारत माता का रूप ही बदल चुका है। किसी भी हाल में चुनाव जीतने की लालसा ने भाजपा को यह क़दम उठाने पर मजबूर कर दिया है। दरअसल  त्रिपुरा में होने वाले विधानसभा चुनावों को देखते हुए भाजपा ने भारत माता का चित्रण बदलने की तैयारी कर ली है। अब भारत माता पूर्वोतर राज्यों के पारम्परिक पोशाक में दिखायी देगी।

इंडियन इक्स्प्रेस के अनुसार भाजपा आगामी त्रिपुरा चुनावों के लिए इस तस्वीर का इस्तेमाल करेगी। इस मामले पर बोलते हुए त्रिपुरा के भाजपा प्रभारी सुनील देवधर ने कहा की इस क्षेत्र का आदिवासी समुदाय सालों से देश से अलग महसूस करता आया है। इसलिए इसे ख़त्म करने के लिए हमने यह फ़ैसला लिया है। हम दिखाना चाहते है की वो भी भारत का हिस्सा है और भारत माता उनके लिए भी है।

Loading...