नई दिल्ली | कुछ दिन पहले मध्यप्रदेश एटीएस ने ISI के लिए जासूसी कर रहे 11 लोगो को गिरफ्तार किया था. उस दौरान खुलासा हुआ की पकडे गए आरोपी बीजेपी, विहिप और बजरंग दल से जुड़े हुए है. देश में राष्ट्रवादी सोच की पैरोकार और देशभक्ति के सर्टिफिकेट बांटती एक पार्टी के लिए इससे बुरी खबर कोई नही हो सकती. अब इसी मुद्दे को कांग्रेस ने हर मंच से उठाने का फैसला किया.

शनिवार को कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने प्रेस वार्ता कर बीजेपी पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा की जो पार्टी पुरे देश में अपने विरोधियो और आलोचकों को राष्ट्रविरोधी करार देती फिर रही है , उसी पार्टी के नाक के नीचे देश और सेना की ख़ुफ़िया सूचनाये, फोटो दुश्मन देश के साथ साझा किये जा रहे है. न ही प्रदेश सरकार और न ही कोई ख़ुफ़िया एजेंसी इस नेटवर्क का पता लगा सकी.

सिंधिया ने बीजेपी सदस्यों पर इस नेटवर्क में संलिप्त होने का आरोप लगाते हुए कहा की पिछले दिनों एटीएस ने जिन 11 लोगो को गिरफ्तार किया उनमे से तीन बीजेपी सीधे तौर पर बीजेपी से जुड़े हुए है. उनकी काफी तस्वीरी बीजेपी नेता विजयवर्गीय और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ है. बाकी सदस्यों का ताल्लुक भी विहिप और बजरंग दल के साथ पाया गया है. इस नेटवर्क का मास्टरमाइंड बलराम सिंह, बजरंग दल से जुड़ा हुआ है.

सिंधिया ने बलराम सिंह पर आरोप लगाया की वो ISI से ली गयी विदेशी मुद्रा को आरोपियों तक पहुंचाता है. इसके अलावा बलराम ने बजरंग दल के अन्य सदस्यों के नाम से बैंक खाते भी खोले हुए थे. सिधिया ने बताया की सूचना मिली है की ISI करीब 30 एक्सचेंज के माध्यम से देश के चार महानगरो में जासूसी करा रही है. इस नेटवर्क से जुड़े लोग ISI को देश और सेना की मूवमेंट और अन्य सुरक्षा जानकारी साझा करते है.

सिंधिया के अनुसार इस नेटवर्क के पकडे जाने के बाद यह स्पष्ट है की केंद्र सरकार देश की आन्तरिक सुरक्षा करने में विफल रही है. क्योकि इस नेटवर्क से जुड़े लोग बीजेपी, विहिप और बजरंद दल से जुड़े हुए है इसलिए बीजेपी ISI सर्टिफाइड पार्टी बन चुकी है. हम मांग करते है की इस मामले की जनच सुप्रीम कोर्ट जज की निगरानी में सीबीआई से कराई जाए.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें