bjp-forced-to-snapdeal-to-dump-aamir-khan-from-brand-ambassador

नई दिल्ली | मिस्टर परफेक्शनिस्ट के नाम से मशहूर आमिर खान अपनी फिल्मो और बयानों को लेकर हमेशा सुर्खियों मे रहते है. लेकिन पिछले साल उनके एक बयान ने इतना बड़ा हंगामा खड़ा कर दिया की सोशल मीडिया पर उनके खिलाफ एक मुहीम शुरू हो गयी. जहाँ कुछ लोग उन्हें देश द्रोही साबित करने पर तुले थे तो कुछ आमिर खान की फिल्मो और उनके द्वारा एंडोर्स किये गए उत्पादों का बहिष्कार करने की अपील कर रहे थे . इसका नतीजा यह हुआ है की उनको स्नेपडील के ब्रांड एम्बेसेडर पद से हटा दिया गया.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर अनुसार सोशल मीडिया पर आमिर खान के खिलाफ जो दुष्प्रचार किया गया उसके पीछे बीजेपी के आईटी सेल का हाथ था. इस बात का खुलासा बीजेपी आईटी सेल की एक पूर्ण सदस्य ने किया है. पिछले साल आईटी सेल से अलग हुई इस सदस्य ने बताया की उन्हें सेल के हेड अरविन्द गुप्ता ने आमिर खान के खिलाफ सोशल मीडिया पर अभियान चलाने के लिए कहा था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पत्रकार स्वाति चतुर्वेदी की एक किताब ‘आई ऍम ट्रोल’ में बताया गया की किस तरह आमिर खान के खिलाफ पूरा षड्यंत्र रचा गया. इस किताब में बताया गया की बीजेपी आईटी सेल की सदस्य साध्वी खोसला ने यह खुलासा किया की अरविन्द गुप्ता के कहने पर हमने सोशल मीडिया के जरिये स्नेपडील पर दबाव बनाया. अपनी बात को सही साबित करने के लिए साध्वी खोसला ने स्वाति चतुर्वेदी के साथ कुछ व्हाट्सएप मेसेज शेयर किये.

गौरतलब है की सोशल मीडिया पर एक अभियान चला था की अगर आमिर खान को स्नेपडील के ब्रांड एम्बेसेडर पद से नही हटाया गया तो हम स्नेपडील का बहिष्कार करेंगे. इस मुहीम का असर यह हुआ की आमिर खान को स्नेपडील ने हटा दिया. दरअसल आमिर खान ने 2015 के रामनाथ गोयनका अवॉर्ड शो में कहा था की देश में फ़िलहाल ऐसी स्थिति है की उनकी बीवी ने उन्हें यह सुझाव दिया की संभवतः हमें देश छोड़ देना चाहिए.

Loading...